गरियाबंद

Gariyaband: मानकीगुड़ा के 300 ग्रामीण 20 दिन से अंधेरे में, ट्रांसफार्मर के खराब होने से बिजली व्यवस्था बाधित

रवि तिवारी@देवभोग। (Gariyaband) ब्लॉक के डूमरबाहाल पंचायत के आश्रित ग्राम मानकीगुड़ा के 300 ग्रामीण पिछले 20 दिनों से अंधेरे में जीवन जीने को मजबूर हो गए हैं। स्थिति यह हैं कि 20 दिन पहले खराब हुए ट्रांसफार्मर को अब तक बिजली विभाग ने नहीं बदला हैं और ना ही बाधित बिजली व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए किसी तरह का कोई कदम उठाया हैं। आज मजबूरीवश मानकीगुड़ा के रहवासी अंधेरे में रात काटने को मजबूर हो गए हैं। (Gariyaband) गॉव के निर्मल यादव की माने तो 20 दिन पहले ट्रांसफार्मर के खराब होने के बाद गॉव की बिजली  गुल हो गईं हैं।

निर्मल ने बताया कि सात दिन पहले गॉव में बिजली विभाग के कर्मचारियों की एक टीम पहुँची थी,इसके बाद उन्होंने ट्रांसफार्मर खराब होने की बात कही,और जल्द ही उचित कदम उठाने का आश्वासन देकर वे निकल गए। हालांकि मामले में जेई कुसुम साहू ने बताया कि ट्रांसफार्मर खराब होने सम्बन्धी शिकायत उनके पास अब तक नहीं पहुँची हैं, (Gariyaband) जेई साहू ने कहा कि आपके माध्यम से मामले की जानकारी मिली हैं, मैं जानकारी लेकर जल्द ही उचित कदम उठाऊंगा।

Chhattisgarh में आज पाए गए कोरोना के 25 नए केस,1 संक्रमित ने दम तोड़ा , 13 जिलों में एक भी मरीज नहीं

मोबाइल चार्ज करने डेढ़ किलोमीटर का सफर

गॉव के निर्मल यादव के साथ ही अन्य ग्रामीणों ने बताया कि लाइट बन्द होने के चलते अंधेरे में रात काटने जैसी बड़ी समस्या तो हैं ही। इसके साथ-साथ सबसे बड़ी समस्या मोबाइल चार्ज करने की हैं। ग्रामीण मोबाइल चार्ज करने के लिए डेढ़ किलोमीटर का सफर तय कर डूमरबाहाल जाकर दूसरे के घरों में मोबाइल चार्ज करते हैं। इसी के साथ ही शासन की और से मिलने वाला मिट्टीतेल भी कुछ दिनों में खत्म हो जाता हैं, जिसके चलते पूरी रात मोमबत्ती की लौ के सहारे गुजारने को ग्रामीण मजबूर हो जाते हैं।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: