Home ब्यूरोक्रेसी लाल आतंक की जद में जीत गया बस्तर का लोकतंत्र.. जहां हुई...

लाल आतंक की जद में जीत गया बस्तर का लोकतंत्र.. जहां हुई थी भाजपा विधायक की हत्या वहां 70 फीसदी मतदान

संजीव पचौरी@जगदलपुर. कहते हैं आंतक किसी भी रूप में आए उसका तोड़ लोकतंत्र में संभव है। यही बात आज लाल आतंक की जद में कराह रहे बस्तर में साबित हो गई। नक्सलवादी सुकमा इलाके में बडी संख्या मे मतदान हो रहा है..नक्सली फरमान के बावजूद मतदाताओं में मतदान को लेकर खासा उत्साह बना हुआ है। […]

244
Wins democracy

संजीव पचौरी@जगदलपुर. कहते हैं आंतक किसी भी रूप में आए उसका तोड़ लोकतंत्र में संभव है। यही बात आज लाल आतंक की जद में कराह रहे बस्तर में साबित हो गई। नक्सलवादी सुकमा इलाके में बडी संख्या मे मतदान हो रहा है..नक्सली फरमान के बावजूद मतदाताओं में मतदान को लेकर खासा उत्साह बना हुआ है।

Wins democracy

कुआकोंडा में कुंडा ब्लॉक के श्याम गिरी में सिरोही बहिष्कार के बाद भी ग्रामीणों ने किया अपने मत का उपयोग किया। बता दें कि श्याम गिरी वही इलाका है जहां 2 दिन पहले ही नक्सलियों ने ब्लास्ट कर भाजपा विधायक भीमा मंडावी सहित चार लोगों को शहीद कर दिया था।

Wins democracy

इलाके के नक्सली संगठन की ओर से नसीम लक्ष्मी द्वारा मतदान का बहिष्कार भी किया गया था। बावजूद इसके लाल आतंक को मुंह चिढ़ाकर वहां के ग्रामीण बढ़-चढ़कर लोकतंत्र के इस महापर्व में हिस्सा ले रहे हैं। अभी तक इलाके में 70 फीसदी मतदान हो चुका है।

Wins democracy

प्रशासन ने लोगों की सुरक्षा के लिए बकायदा यहां भारी फोर्स तैनात किए हैं साथ ही ड्रोन कैमरे की मदद से चप्पे चप्पे पर नजर रखी जा रही है। बता दें कि लगातार नक्सली यहां चुनाव के बहिष्कार की धमकी लोगों को देते रहे हैं लेकिन लोगों का हौसला आतंक के साए में भी कम नहीं हुआ।