छत्तीसगढ़

अचानक ऐसा क्या हुआ की चरोदा रेलवे स्टेशन पर मच गई अफरातफरी

अनिल गुप्ता@दुर्ग. भिलाई के चरोदा रेल्वे स्टेशन में आज सुबह उस समय अफरातफरी मच गई। जब एक यात्रियों से भरी ट्रेन पटरी से उतर गई। ट्रेन के डिरेल होने की सूचना मिलते ही चरोदा के रेलवे यार्ड से रेल आपदा प्रबंधन की टीम तत्काल मौके पर रवाना हुई। और इसके बाद ट्रेन में फंसे यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाला गया। इस घटना में कोई भी हताहत नही हुआ है। क्योंकि ये पूरा घटनाक्रम महज एक मॉकड्रिल थी। जिसे रेल प्रबंधन के द्वारा इसलिए किया गया था। ताकि आपदा के दौरान किस तरह से जानमाल के नुकसान को त्वरित निराकरण किया जा सकता हैं।

रेल प्रबंधन और एनडीआरएफ की संयुक्त टीम के द्वारा आयोजित इस संयुक्त अभ्यास के दौरान रायपुर से आये डीआरएम, और एनडीआरएफ के टीम कमांडर सुनील त्रिपाठी प्रमुख रूप से उपस्थित हुये। और इनकी निगरानी में ही ये पूरा अभ्यास किया गया। मरौदा रेल्वे स्टेशन में रेल्वे का आपदा प्रबंधन और एनडीआरएफ की टीम ने इस बात को प्रदर्शित किया, कि रेल के डिरेल होने पर या फिर चलती ट्रेन में आग लगने की जब कोई बड़ी घटना घटती है। तो ये टीम किस तरह से लोगो के जानमाल को सुरक्षा प्रदान करती है। ट्रेन की बोगियों में जब लोग फंस जाते हैं। खिड़की को कटर से किस तरह से काटा जाता है। और कैसे विषम परिस्थितियों में बचाव कार्य किया जाता है।

मौके पर कैसी प्लानिग की जाती है। समय पर राहत बचाव और मरम्मत का कार्य किया जाता है। इन सब महत्त्वपूर्ण विषयो को लेकर ये पूरा अभ्यास किया गया। रायपुर रेल मंडल के डीआरएम संजीव कुमार और एनडीआरएफ के टीम कमांडर सुनील त्रिपाठी ने मीडिया को इस सयुंक्त अभ्यास के बारे में जानकारी देते हुये बताया कि, देश भर में लाखों करोड़ों नागरिक ट्रेनों के माध्यम से अपनी यात्रा करते हैं। और कभी कभार छोटी बड़ी दुर्घटनाएं भी होती हैं। ऐसे में लोगो के जानमाल को कैसे सुरक्षित किया जाता है। इसके लिए ये ही समय समय पर अभ्यास भी किया जाना आवश्यक है। नही तो बचाव कार्य मे लगने वाले उपकरणों भी खराब स्थिति में पहुँच जाते हैं।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: