छत्तीसगढ़

Video: शिक्षा व्यवस्था की ऐसी तस्वीर…….जब शिक्षक से पूछा…क्यों पीकर आते हो शराब….तो सुनिए टीचर का मजेदार जवाब….

शिव शंकर साहनी@अंबिकापुर। (Video) प्रदेश में सरकार किसी की भी हो लेकिन शिक्षा व्यवस्थाओं को लेकर हमेशा से सवाल उठते रहे हैं। साथ ही सरकार बेहतर शिक्षा देने के लिए कई योजनाएं भी बनाती है। जिससे की शिक्षा व्यवस्था के क्षेत्र में एक अहम भूमिका निभा सके। आज हम आपको शिक्षा व्यवस्था की एक ऐसी तस्वीर दिखने जा रहे हैं। जो आपको सोचने पर मजबूर कर देगी। हम बात कर रहे हैं।

सरगुजा सभाग के बलरामपुर जिले की जहां  शिक्षक खुद बताते है की शराब के बिना पढ़ना मुश्किल है। इसलिए शराब का सेवन करके आना पड़ता है। जिले के भी ऐसे कई स्कूलों में शिक्षक शराब का सेवन करके आते हैं। वही दूसरी तरफ सरगुजा जिले के अधिकतर स्कूलो में समय की कोई पाबंदी नही है।

Rajnandgaon: तेंदुए का आतंक, दंपत्ति सहित 1 को बुरी तरह से किया घायल, अस्पताल में इलाज जारी

यही वजह है कि स्कूलों में सभी विषयों की पढाई भी नहीं हो पाती है। जहां शिक्षक 11 से 12 बजे आते है और वह 3 बजे घर को चले जाते हैं। (Video) इस सवाल पर शिक्षक ने तो माफ़ी भी मांग ली।

(Video) शिक्षा व्यवस्था को लेकर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा की सरगुजा सभाग ही नहीं छत्तीसगढ़ में शराब के नशे में ऐसी जगह आना नियमों के विपरीत है। ऐसे लोगों को तो काम पर रखना भी नहीं चाहिए।

ऐसी बातें सामने आती है शराब है उसका सेवन है अभी तक कोई प्रतिबंध नहीं है..लेकिन शराब का सेवन ऐसे जगह में कीजिये जहा दूसरे कार्य में बाधा उत्पन्न ना हो.. अगर ऐसा है तो कार्रवाई होनी चाहिए

Gariyaband: दुष्कर्म का आरोपी पहुंचा सलाखों के पीछे, मामला दर्ज होने के बाद 12 घंटे के अंदर देवभोग पुलिस ने की त्वरित कार्रवाई

बहरहाल कोरोना काल के लम्बे अरसे बाद प्रदेश सरकार ने स्कूल खोलने की अनुमति तो दी। मगर शिक्षा की लापरवाही की वजह से व्यवस्थाओं  का आलम सरगुजा संभाग के स्कूलों में देखने को मिल रहा है। ऐसे में देखना होगा की बच्चे अपना भविष्य कैसे गढ़ेंगे। यह तो आने वाला समय बताएगा। 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: