राजनीति

UP: प्रियंका गांधी वाड्रा को मिली इजाजत, पुलिस ने दी आगरा जाने की इजाजत, अरुण की पूछताछ के दौरान पुलिस हिरासत में मौत के बाद मामला गरमाया

लखनऊ। (UP) कांग्रेस नेता प्रियंका गाँधी को लखनऊ पुलिस ने हिरासत में ले लिया. प्रियंका को पिछले 17 दिनों में दूसरी बार पुलिस हिरासत में लिया गया है. उनको उस वक्त हिरासत में लिया गया जब वह एक मृतक परिवार के सदस्यों से मिलने आगरा जा रही थी.

(UP) लखनऊ पुलिस के मुताबिक लखनऊ पुलिस ने कहा कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को हिरासत में लिया गया क्योंकि सीआरपीसी की धारा 144 लागू थी. प्रियंका गांधी वाड्रा को पुलिस ने लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर रोक दिया क्योंकि आगरा के जिलाधिकारी ने एक शख्स की मौत के बाद किसी भी राजनीतिक व्यक्ति को वहां नहीं जाने देने का निर्देश दिया है. (UP) प्रियंका को हिरासत में लिए जाने के बाद लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर भारी हंगामा मचा.

Ambikapur: अब तक नहीं हुआ धान का उठाव, समिति कर रही मांग, परेशान होकर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कुछ समय बाद आगरा जाने की दी गई अनुमति

हालांकि कुछ समय तक हिरासत में रखे जाने के बाद प्रियंका गांधी वाड्रा को आगरा जाने की अनुमति दे दी गई. जिसके बाद वह आगरा के लिए रवाना हो गई हैं. 4 लोगों को अनुमति मिली है. प्रियंका गांधी प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, आचार्य प्रमोद कृष्णम और एमएलसी दीपक सिंह के साथ आगरा के लिए रवाना हो गई हैं. हालांकि कार्यकर्ताओं की भीड़ भी पीछे-पीछे रवाना हुई है.

फिर से हिरासत में प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका को पिछले 17 दिनों में दूसरी बार पुलिस हिरासत में लिया गया है. इससे पहले वह लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा मामले में मृतकों के परिजनों से मिलने जाने के दौरान हिरासत में लिया गया था.

अरुण वाल्मीकि की मृत्यु पुलिस हिरासत में हुई। उनका परिवार न्याय मांग रहा है। मैं परिवार से मिलने जाना चाहती हूं। उप्र सरकार को डर किस बात का है? क्यों मुझे रोका जा रहा है।

पुलिस हिरासत में हुई थी युवक की मौत

गौरतलब है कि आगरा के जगदीशपुरा थाने से 25 लाख रुपये की चोरी के आरोपी अरुण वाल्मीकि की पूछताछ के दौरान कथित तौर पर पुलिस हिरासत में मौत हो गई.

आगरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मुनिराज ने बताया कि मंगलवार की रात आरोपी अरुण अचानक उस समय बीमार पड़ गया, जब चोरी के पैसे की बरामदगी के लिए उसके घर पर छापेमारी की जा रही थी. पीटीआई ने उनके हवाले से कहा, ‘उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.’

पुलिस के अनुसार, अरुण थाने के “मालखाना” (एक भंडारण घर जहां पुलिस द्वारा जब्त किया गया सामान रखा जाता है) में क्लीनर का काम करता था. उसने शनिवार की रात कथित तौर पर पैसे चुरा लिए थे. फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है.

एसएसपी आगरा ने 5 पुलिसकर्मियों को किया संस्पेड

आगरा में पुलिस हिरासत में हुई कथित मौत मामले में एसएसपी आगरा ने 5 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की है. एसएसपी ने एक इंस्पेक्टर, एक सब इंस्पेक्टर और तीन सिपाही को सस्पेंड कर दिया है.

एसएसपी ने कहा कि घटना में मुकदमा दर्ज और पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई होगी.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: