Home जिले केंद्रीय इस्पात पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा- इस्पात में छत्तीसगढ़ के...

केंद्रीय इस्पात पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा- इस्पात में छत्तीसगढ़ के सहयोग के बिना भारत की कल्पना अधूरी

शिव जायसवाल@बालोद। केंद्रीय इस्पात पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान आज बालोद जिले के दल्ली राजहरा खदान के निरीक्षण को पहुंचे जहां उन्होंने डेढ़ सौ करोड़ की लागत से एक ऐसे संयंत्र की स्थापना की जहां लो क्वालिटी के फाइंस को अपग्रेड किया जाएगा साथ ही उन्होंने खदान एवं यूनियन कर्मियों से भी मुलाकात की। सप्तगिरि पार्क […]

केंद्रीय इस्पात पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा- इस्पात में छत्तीसगढ़ के सहयोग के बिना भारत की कल्पना अधूरी

शिव जायसवाल@बालोद। केंद्रीय इस्पात पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान आज बालोद जिले के दल्ली राजहरा खदान के निरीक्षण को पहुंचे जहां उन्होंने डेढ़ सौ करोड़ की लागत से एक ऐसे संयंत्र की स्थापना की जहां लो क्वालिटी के फाइंस को अपग्रेड किया जाएगा साथ ही उन्होंने खदान एवं यूनियन कर्मियों से भी मुलाकात की।

सप्तगिरि पार्क पहुंचकर किया पौधारोपण
केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान सबसे पहले सप्तगिरि पार्क पहुंचे जहां उन्होंने पौधारोपण किया। जिसके बाद वे खदान के दौरे पर निकले जहां उनके साथ जिला प्रशासन व स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया की टीम भी मौजूद रहे। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा के दौरान बताया कि आने वाले समय में स्टील की उपयोगिता सबसे ज्यादा बढ़ने वाली है। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत में इस्पात उद्योग की कल्पना बिना छत्तीसगढ़ के सहयोग के नहीं की जा सकती।

2 दिनों के छत्तीसगढ़ प्रवास पर मंत्री
उन्होंने बताया कि वह 2 दिनों के छत्तीसगढ़ प्रवास पर हैं। जहां वे भिलाई एवं दिल्ली माइंस के विजिट के बाद कहते हैं कि उनका आत्मविश्वास बढ़ा है। उन्होंने कहा कि आज से 140 मिलियन की जो उत्पादक क्षमता थी। उसे 300 मिलियन तक बढ़ाई जाएगी इसके बढ़ने से भिलाई इस्पात संयंत्र का उत्पादन भी बढ़ेगा। छत्तीसगढ़ का भी विकास होगा। इस दौरान उन्होंने दल्ली राजहरा की स्थितियों और लाल पानी प्रभाव पर भी अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि दल्ली राजहरा को फिर से कैसे व्यवस्थित रखें। यहां का विकास हमारी प्राथमिकता है। साथ ही उन्होंने कहा कि आने वाले समय में दल्ली राजहरा एवं भिलाई के साथ ही इस्पात संयंत्र का विकास भी होगा।