छत्तीसगढ़जांजगीर-चांपा

रोमांच के साथ उत्साह का बना माहौल, पारम्परिक खेलों ने बढ़ाया मेलजोल,गिल्ली-डंडा, लंगड़ी दौड़, पिट्ठुल, रस्साकसी, फुगड़ी, भौंरा, खो-खो का हुआ आयोजन,बच्चों से लेकर बड़ों में दिखा उत्साह

गोपाल शर्मा@जांजगीर-चाम्पा। छत्तीसगढ़िया ओलंपिक की शुरूआत क्या हुई, इसमें भाग लेकर खेलने के लिए गांव के बच्चों से लेकर बड़ों तक में उत्साह नजर आया। पारम्परिक खेलों को महत्व मिलने से इसे मैदान पर खेलने वालों से लेकर देखने वालों में न सिर्फ एक अलग खुशी थी, गांव से लेकर नगर तक छत्तीसगढ़िया ओलंपिक की चर्चा भी खूब हुई। जिले में गांव-गांव में छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के माध्यम से पारम्परिक खेल गिल्ली-डंडा, लंगड़ी दौड़, पिट्ठुल, रस्साकसी, फुगड़ी, भौंरा, खो-खो सहित अन्य खेलों का आयोजन किया गया। जनप्रतिनिधियों से लेकर कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा सहित अन्य लोगों ने भी भौरा चलाकर, गिल्ली डंडा खेलकर खिलाड़ियों और ग्रामीणों के उत्साह को दुगना किया।

6 अक्टूबर से लेकर 6 जनवरी तक चलेगा आयोजन
छत्तीसगढ़िया ओलंपिक में सबसे पहले राज युवा मितान क्लब स्तर के आयोजन 6 अक्टूबर से 11 अक्टूबर 2022 तक होंगे। वही जोन स्तर का आयोजन 15 अक्टूबर से 20 अक्टूबर तक होंगे। विकासखंड स्तर पर 27 अक्टूबर से 10 नवंबर तक आयोजित किए जाएंगे। जिला स्तर पर 17 नवंबर से 26 नवंबर तक और संभागीय स्तर पर आयोजन 5 दिसंबर से 14 दिसंबर के बीच होगा। वही राज्य स्तर पर छत्तीसगढ़ी ओलंपिक का अंतिम चरण 28 दिसंबर 2022 से 6 जनवरी 2023 तक आयोजित होगा। इस स्तरों के अनुसार इन खेल प्रतियोगिता के आयोजन किया जाएंगे।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: