Home जिले कृषि महाविद्यालय में तीन दिवसीय मशरूम प्रशिक्षण का हुआ समापन, विभिन्न पहलुओं...

कृषि महाविद्यालय में तीन दिवसीय मशरूम प्रशिक्षण का हुआ समापन, विभिन्न पहलुओं पर की गई चर्चा

दुर्गा प्रसाद सेन@बेमेतरा. कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र बेमेतरा में तीन दिवसीय मशरूम प्रशिक्षण का सफलतापूर्वक समापन किया गया। यह प्रशिक्षण जिले के अनुसूचित जाति के महिला एवं पुरूष, कृषकों के लिए अखिल भारतीय समन्वित मशरूम अनुसंधान परियोजना पादपरोग विज्ञान विभाग, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय एवं भारतीय कृषि अनुसंधान परियोजना खुम्ब अनुसंधान निदेशालय सोलन द्वारा […]

कृषि महाविद्यालय में तीन दिवसीय मशरूम प्रशिक्षण का हुआ समापन, विभिन्न पहलुओं पर की गई चर्चा

दुर्गा प्रसाद सेन@बेमेतरा. कृषि महाविद्यालय एवं अनुसंधान केन्द्र बेमेतरा में तीन दिवसीय मशरूम प्रशिक्षण का सफलतापूर्वक समापन किया गया। यह प्रशिक्षण जिले के अनुसूचित जाति के महिला एवं पुरूष, कृषकों के लिए अखिल भारतीय समन्वित मशरूम अनुसंधान परियोजना पादपरोग विज्ञान विभाग, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय एवं भारतीय कृषि अनुसंधान परियोजना खुम्ब अनुसंधान निदेशालय सोलन द्वारा आयोजित किया गया था।

इस कार्यक्रम में मशरूम उत्पादन तकनीकी से जुड़े हुए विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई एवं प्रायोगिक तरीकें से पैरा मशरूम उत्पादन तकनीक की जानकारी कृषकों को प्रदान की गई। इस प्रशिक्षण में ग्राम बिलाई, नवनपुर एवं साजा के 8 महिला स्वसहायता समुह एवं पुरूष कृषकों ने भाग लिया।

इस प्रशिक्षण कार्यक्रम मे कुल 80 कृषकों ने भाग लिया। इस प्रशिक्षण के समापन में मुख्य अतिथि डॉ. अनिल कोटस्थाने (विभागाध्यक्ष) पादप रोग विज्ञान, कृषि महाविद्यालय रायपुर, डॉ. नरेन्द्र लाकपाले प्रमुख अन्वेषक मशरूम प्रोजेक्टर, डॉ. केपी वर्मा अधिष्ठाता, कृषि महाविद्यालय बेमेतरा, डॉ. एचके सिंह वैज्ञानिक पादप रोग विज्ञान रायपुर, जीपी आयाम वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं प्रमुख कृषि विज्ञान केन्द्र बेमेतरा एवं प्रफुल्ल कुमार सोनी सहायक प्राध्यापक पौधरोग विज्ञान की उपस्थिति रही।