Home देश - विदेश कोरोना संकट के बीच अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए RBI ने की...

कोरोना संकट के बीच अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए RBI ने की ये घोषणाएं, जानिए

नई दिल्ली। कोरोना महामारी की वजह से देश की अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लगा है। इस बीच आरबीआई की ओर से राहत भरी खबर सामने आई है। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने रिवर्स रेपो रेट में कटौती की घोषणा की. इसके अलावा उन्होंने सिस्टम में नकदी बढ़ाने के लिए ऐलान किया है. आइए […]

नई दिल्ली। कोरोना महामारी की वजह से देश की अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लगा है। इस बीच आरबीआई की ओर से राहत भरी खबर सामने आई है। रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने रिवर्स रेपो रेट में कटौती की घोषणा की. इसके अलावा उन्होंने सिस्टम में नकदी बढ़ाने के लिए ऐलान किया है. आइए RBI की ओर से की गई बड़ी घोषणाओं पर नजर डालें.रिवर्स रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की कटौती की गई है. अब रिवर्स रेपो रेट 4% से घटकर 3.75% हो गया है. रिवर्स रेपो रेट में कटौती से बैंकों को फायदा होगा. बैंकों को कर्ज मिलने में दिक्कत नहीं होगी.

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि कोविड 19 से छोटे और मध्यम आकार के कॉरपोरेट को नकदी की काफी दिक्कत हुई, इसलिए टीएलटीआरओ 2.0 का ऐलान किया जा रहा है. 50,000 करोड़ रुपये से शुरुआत की जा रही है. इसके बाद हालात का आकलन कर इसे और बढ़ाया जाए. टीएलटीआरो 2.0 के तहत 50 फीसदी टोटल एमाउंट छोटे, मध्यम आकार के कॉरपोरेट, एमएफआई, एनबीएफसी को जाएगा. इसके लिए अधिसूचना आज ही आएगी.

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि नाबार्ड, सिडबी, एनएचबी की भूमिका ग्रामीण क्षेत्रों और एनबीएफसी आदि के कर्ज प्रवाह के लिए महत्वपूर्ण है. कोविड 19 के दौर में इन संस्थाओं को बाजार से कर्ज मिलने में मुश्किल है, इसलिए नाबार्ड, सिडबी, एनएचबी को 50,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त रीफाइनेंसिंग की सुविधा दी जा रही है.