गरियाबंद

Gariyaband: प्राकृतिक सुंदरता के बीच खूबसूरत वादियों में पहाड़ की उंची चोटी पर विराजमान है गरजई माता मंदिर, पत्थर से निकलती है घंटे की ध्वनि

रमेश्वर राजपूत@गरियाबंद। (Gariyaband) जिला मुख्यालय गरियाबंद से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर पीपर छेड़ी ग्राम के पास घने जंगलों में पहाड़ के बीच विराजमान है गरज ई माता मंदिर। जहां दर्शन करने हेतु लगभग 450 सीढ़ी चढ़कर लोग पहाड़ी पर पहुंचते हैं। मंदिर के पास विशालकाय पत्थर को ठोकने पर निकलती है। घंटे की ध्वनि साथ ही कई पत्थरों के गुफा भी स्थित है। (Gariyaband) नवरात्रि पर्व के दौरान यहां श्रद्धालुओं के लिए भोजन भंडारे की भी व्यवस्था रहती है और साथ ही कई दुकानें भी सजी रहती है। इस देवी स्थल के कई अनसुलझे पहलु भी स्थानीय लोगों से सुनने को मिलती है।

Corona Vaccination: लड़ेगे कोरोना से, देश में टीकाकरण का आंकड़ा 96.43 करोड़ के पार, जानिए बीते 24 घंटे में वैक्सीनेशन का आंकड़ा

अटूट श्रद्धा एवं विश्वास

क्षेत्र के लोगों की इस देवी स्थल पर अटूट श्रद्धा एवं विश्वास भी है। जहां आसपास के कई गांव की समिति भी बनी है। (Gariyaband) जिसके माध्यम से यहां के कार्यक्रमों का संचालन होता है। जहां दूर-दूर से देवी दर्शन हेतु श्रद्धालुगण पहुंचते हैं।  क्वार नवरात्रि के दौरान यहां काफी संख्या में ज्योति कलश भी प्रज्वलित होती है। इस पहाड़ी पर अनगिनत पत्थरों का ढेर है। किंतु जिस स्थान पर देवी मां विराजमान हैं। उसी विशालकाय पत्थर में ही ठोकने पर घंटानुमा आवाज निकलती है। एक प्रकार की गरजने की आवाज आने के कारण इस देवी स्थल का नाम गरजई माता मंदिर पड़ा है।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: