देश - विदेश

वंदे भारत एक्सप्रेस की स्पीड बढ़ाने के लिए बदलेगी तकनीक, जानिए कैसे

नई दिल्ली। आने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस की औसत स्पीड बढ़ाने के लिए रेल मंत्रालय ट्रेन में इस्तेमाल होने वाली तकनीक में बदलाव करने जा रहा है, जिससे ट्रेन को मोड़ में धीमा करने की जरूरत नहीं पड़ेगी. पूरी रफ्तार से दौड़ेगा। मंत्रालय भविष्य में आने वाली कुल ट्रेनों में से 25 फीसदी में नई तकनीक का इस्तेमाल करेगा, जिससे यात्रियों के समय की बचत होगी.

वर्तमान में घुमावदार रेलवे ट्रैक पर ट्रेनों की गति धीमी हो जाती है। क्योंकि इन जगहों पर गति प्रतिबंधित है, इस वजह से ट्रेन की औसत गति कम हो जाती है। इसमें नई तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा।

यह नई तकनीक है

रेल मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि झुकी हुई तकनीक वाली वंदे भारत एक्सप्रेस मौजूदा ट्रैक पर दौड़ने की तैयारी कर रही है. झुकी हुई तकनीक से रेलवे ट्रैक (रेलवे) को मोड़ने पर वंदे भारत ट्रेन पूरी रफ्तार से दौड़ सकेगी। इस तकनीक के इस्तेमाल के बाद ट्रेन अपने आप घुमावदार ट्रैक को झुका देगी, जिससे ट्रेन में बैठे रेल यात्रियों को इसका आभास भी नहीं होगा. इस तरह झुकी हुई तकनीक वाली ट्रेनों की औसत गति बढ़ जाएगी।

100 ट्रेनों में नई तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा

रेल मंत्रालय के मुताबिक, घोषित 400 वंदे भारत एक्सप्रेस में से 100 ट्रेनों को टिल्टेड तकनीक से बनाया जाएगा. फिलहाल इटली, फिनलैंड, रूस, स्विट्जरलैंड, चीन, जर्मनी, रोमानिया समेत कई देशों में झुकी हुई तकनीक वाली ट्रेनें चलाई जा रही हैं।

हर साल 250 से 300 ट्रेन बनाने की तैयारी है

वंदे भारत एक्सप्रेस के बजट में केंद्र सरकार के आम को जगह मिल सकती है. जानकारी के अनुसार, सरकार प्रति वर्ष 250-300 वंदे भारत ट्रेनों के उत्पादन-संचालन की घोषणा कर सकती है। बजट में सेमी-हाई स्पीड ट्रेन यानी वंदे भारत में नई तकनीक, डिजाइन, स्पीड बढ़ाने का प्रावधान पहले से किया जाएगा.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: