Home देश - विदेश स्विस बैंक ने भारत को पहली सूची सौंपी, अब तक भारतीयों के...

स्विस बैंक ने भारत को पहली सूची सौंपी, अब तक भारतीयों के 100 खाते हुए बंद

नई दिल्ली। स्विस बैंक में जमा काले धन पर सरकार काम करना शुरू कर चुकी है। स्विट्ज़रलैंड और भारत के बीच बैंकिंग सूचनाओं के आदान-प्रदान के समझौते के बाद भारतीय खाताधारकों की पहली सूची भारत को सौंप दी है। गौरतलब है कि भाजपा ने लोकसभा चुनाव में इसे अहम मुद्दा बनाया था। अधिकारियों का कहना […]

84

नई दिल्ली। स्विस बैंक में जमा काले धन पर सरकार काम करना शुरू कर चुकी है। स्विट्ज़रलैंड और भारत के बीच बैंकिंग सूचनाओं के आदान-प्रदान के समझौते के बाद भारतीय खाताधारकों की पहली सूची भारत को सौंप दी है। गौरतलब है कि भाजपा ने लोकसभा चुनाव में इसे अहम मुद्दा बनाया था। अधिकारियों का कहना है स्विट्ज़रलैंड से मिली जानकारी का विश्लेषण किया जा रहा है।

गौरतलब है कि भारत और स्विट्ज़रलैंड के बीच बैंकिंग सूचनाओं का आदान-प्रदान करने के लिए समझौते को नया रूप दिया गया था और इसी समझौते के अनुसार 1 सितम्बर से भारतीय खाताधारकों की जानकारी उपलब्ध कराई जा रही है। स्विट्ज़रलैंड से मिली सूची में ज़्यादातर ऐसे खाताधारकों के नाम हैं जिन्होंने कार्यवाही के डर से खाते बंद कर दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक खाताधारकों की लिस्ट में ज़्यादातर अमेरीका, ब्रिटेन, अफ्रीका और दक्षिण एशियाई देशों में रहने वाले भारतीय और व्यापारी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक स्विट्ज़रलैंड सरकार के निर्देशों के बाद विदेशी बैंकों ने भारतीयों खाताधारकों की जानकारी एकत्रित करना शुरू कर दिया था। कभी पूरी तरह गोपनीय रहे स्विस बैंकों के खातों के खिलाफ मुहिम शुरू होने के बाद से खातों से काफी पैसा निकाला जा चुका है।

भारतीय खातों में ज़्यादातर खाते हीरा, स्टील, केमिकल, टेक्सटाईल और रियल स्टेट के व्यापारियों के रहे हैं। जिसकी जानकारी स्विट्ज़रलैंड ने भारत सरकार को दे दी है। राजनीति से जुड़े लागों के खातों की भी सूक्ष्मता से जांच की जा रही है। इस दौरान लगभग 100 ऐसे खाते बंद हुए हैं, जिनका संचालन भारतीय कर रहे थे।