सूरजपुर

Surajpur: ना डॉक्टर और ना ही कोई सेटअप, नुमाइश बनकर रह गया जिले का आयुष चिकित्सालय….अब जनप्रतिनिधी और अधिकारी इस तैयारी में…

अंकित सोनी @सूरजपुर। (Surajpur) जिले में चिकित्सीय सुविधा को बेहतर बनाने के लिए आयुष चिकित्सालय का काम दो साल पहले पूरा कर लिया गया था। 2 साल बीत जाने के बाद अस्पताल एक नुमाइश बनकर रह गया हैं. क्यों कि यहां ना ही डॉक्टरों को नियुक्त किया गया और ना ही कोई सेटअप तैयार किया गया हैं।

वर्तमान दौर में एलोपैथी चिकित्सा जितनी कारगर है। उतना ही आयुर्वेद चिकित्सा का भी महत्व है। अधिकांश इलाजों में आयुर्वेद चिकित्सा अपनी एक अहम भूमिका निभाती है।

(Surajpur) ऐसे में जिले के पूर्व कलेक्टरों के प्रयास से जिले में आयुष स्पेशलिस्ट थेरेपिस्ट अस्पताल की शुरुआत करने की जहमत उठाई गई. (Surajpur) जिसके लिए भवन का कार्य तो पूर्ण कर लिया गया, लेकिन दो सालों से इस चिकित्सालय का उद्घाटन अब तक नही हो सका. जिससे जिले के लोगो को आयुष चिकित्सा से वंचित होना पड़ रहा है.

स्थानीय जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों से चर्चा कर जल्द अस्पताल शुरू करने की मांग

वहीं अब स्थानीय जनप्रतिनिधि भी इस मामले में अधिकारियों से चर्चा कर अस्पताल को जल्द शुरु कराने की बात कर रहे हैं। हालांकि जिले के कलेक्टर गौरव कुमार सिंह ने भी जल्द ही आयुष अस्पताल को शुरू करने का दावा किया है।

बहरहाल शासन प्रशासन के इन दावों के बीच बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरुस्त करने के प्रयास में आयुष चिकित्सालय के शुरुआत के लिए पहल कब तक हो पाती है यह तो देखने वाली बात होगी।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: