छत्तीसगढ़सूरजपुर

Surajpur: हाथी के बच्चे की मौत, दल के साथ चलते हुए कीचड़ में फंसा, सूंड़ में थे घाव के निशान, विशेषज्ञों ने की पुष्टि- हरपस वायरस से हुई मृत्यु

सूरजपुर।  (Surajpur) जिले में हाथी के 2 साल के बच्चे का शव कीचड़ में मिला। बच्चे के सूंड़ में घाव के निशान थे. प्रत्य़क्षदर्शियों के मुताबिक हाथियों के दल के साथ चलते-चलते हाथी का बच्चा कीचड़ में गिर गया। वहीं विशेषज्ञों ने मौत का कारण हरपस वायरस को बताया है। मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने बच्चे का शव पीएम कराया है।

(Surajpur) 25 हाथियों का दल कुदरगढ़ वन परिक्षेत्र के ग्राम जाज और चेंद्रा के बीच एक हफ्ते से विचरण कर रहे हैं। (Surajpur) इसी बीच मड़ई झोरिखा के दलदल में हाथी का बच्चा फंस गया। दल के हाथी काफी देर तक बच्चे को कीचड़ से निकालने का प्रयास करते रहे। लेकिन उसकी मौत हो गई। मिलने पर DFO बीएस भगत और CCF सरगुजा अनुराग श्रीवास्तव भी सरगुजा से मौके पर पहुंच गए थे।

Chhattisgarh: मुख्यमंत्री ने रायपुर के संजीवनी केन्द्र का किया निरीक्षण, हर्बल उत्पाद ई-कॉमर्स प्लेटफार्म पर उपलब्ध, 120 से अधिक प्रकार के उत्पादों का किया जा रहा है विक्रय

कुदरगढ़ रेंजर नरेंद्र कुमार गुप्ता ने सुबह बताया था की ग्राम जाज में सुबह हाथियों का झुंड गांव से धान खाकर जंगल को ओर जा रहा था तभी दो साल का हाथी का बच्चा नाले के कीचड़ में फंस गया। उसको हाथियों के झुंड ने निकालने का प्रयास भी किया, लेकिन नाकाम रहे। कीचड़ में फंसने से हाथी के बच्चे की मौत हो गई। हालांकि पोस्टमार्टम में उसकी मौत के असली कारण की पुष्टि हुई है। विभाग की ओर से बताया गया कि गंदा पानी पीने के कारण अक्सर इस तरह का वायरस संक्रमण हो जाता है।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: