Home जिले बिलासपुर कानन पेंडारी घूमने गए एसडीएम के परिवार को नहीं मिली VIP सुविधा,...

कानन पेंडारी घूमने गए एसडीएम के परिवार को नहीं मिली VIP सुविधा, तो SDO को बंधक बनाकर बैठा दिया थाने में, पढ़िए पूरी खबर

उपेन्द्र त्रिपाठी@बिलासपुर। कानन पेंडारी घूमने गए एसडीएम के परिवार वालों को वीआईपी सुविधाएं नहीं मिली। इस बात से आग बबूला हुए एसडीएम ने पुलिस को निर्देश एसडीओ को बंधक बनाकर थाने में 3 घंटे तक बिठा दिया। मिली जानकारी के अनुसार कवर्धा एसडीएम के परिवार रविवार को कानन पेंडारी भ्रमण करने पहुंचे थे। कानन पेंडारी […]

कानन पेंडारी घूमने गए एसडीएम के परिवार को नहीं मिली VIP सुविधा, तो SDO को बंधक बनाकर बैठा दिया थाने में, पढ़िए पूरी खबर

उपेन्द्र त्रिपाठी@बिलासपुर। कानन पेंडारी घूमने गए एसडीएम के परिवार वालों को वीआईपी सुविधाएं नहीं मिली। इस बात से आग बबूला हुए एसडीएम ने पुलिस को निर्देश एसडीओ को बंधक बनाकर थाने में 3 घंटे तक बिठा दिया।

मिली जानकारी के अनुसार कवर्धा एसडीएम के परिवार रविवार को कानन पेंडारी भ्रमण करने पहुंचे थे। कानन पेंडारी में एसडीएम के परिजनों को किसी प्रकार की कोई विशेष सुविधाएँ नहीं उपलब्ध कराई गई। इधर कवर्धा एसडीएम विपुल गुप्ता और कोटा एसडीएम आनंद तिवारी के कहने पर एसडीओ विवेक चौरसिया कानन मिनी जु से निकले उन्हें कार में शीट बेल्ट नहीं बांधने को लेकर सकरी पुलिस ने थाना पर लाया।

अकारण बंधक बनाकर 3 घंटे तक थाने में बिठा दिया। एसडीओ को थाने में रोककर रखें जाने की जानकारी जैसे ही वन विभाग के अधिकारियों को मिली।

रेंजर बिलासपुर सहित वनकर्मी थाने पहुंचे और उन्हें छुड़वाने का प्रयास करते रहे। इस बीच मामला मीडिया तक पहुंचते ही कानन पेंडारी के एसडीओ को थाने से रवाना कर दिया गया। इस मामले में कानन पेंडारी एसडीओ विवेक चौरसिया को तहसीलदार ने सड़क सुरक्षा सप्ताह के तहत नियम का उल्लंघन किया. इन्होंने सीट बेल्ट भी नहीं लगाया जिसको लेकर कार्रवाई की गई। साथ ही यह भी कहा कि जो भी उल्लंघन करेगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।