देश - विदेश

गेंहू की बढ़ती कीमतों पर लगेगा अंकुश, निर्यात पर भारत ने तत्काल प्रभाव से लगाया रोक

नई दिल्ली। भारत ने बढ़ती महंगाई पर लगाम लगाने के लिए गेहूं के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी है। सरकार ने शुक्रवार देर रात एक अधिसूचना जारी कर कहा, दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा गेहूं उत्पादक देश बढ़ी कीमतों को कम करने की कोशिश में जुटा हैं।

सरकार ने कहा कि पहले ही जारी किए जा चुके लेटर ऑफ क्रेडिट के लिए गेहूं के शिपमेंट की अनुमति है।

फरवरी के अंत में रूस द्वारा यूक्रेन पर आक्रमण करने के बाद से काला सागर क्षेत्र से निर्यात गिरने के बाद वैश्विक खरीदार गेहूं की आपूर्ति के लिए भारत पर निर्भर हो रहे थे।

देश में गेहूं और गेहूं उत्पादों की कीमतों में 15-20 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है जबकि वैश्विक स्तर पर गेहूं की कीमतें 14 साल के उच्चतम स्तर पर हैं। भू-राजनीतिक उथल-पुथल की वजह से वैश्विक गेहूं की कीमतों में वृद्धि जारी हैं। यूक्रेन पर रूस का युद्ध, जिसके कारण बड़े पैमाने पर आपूर्ति बाधित हुई है।

कई कारकों की वजह से देश में गेहूं की कीमतों में उछाल दर्ज किया गया हैं। इनमें गेहूं की अंतरराष्ट्रीय कीमतें और ईंधन की बढ़ती लागत भी शामिल है, जिसका इथेनॉल उत्पादन के लिए उपयोग की जाने वाली वस्तुओं, जैसे मकई और गेहूं पर स्पिलओवर प्रभाव पड़ता है। वैश्विक स्तर पर गेहूं की बढ़ती कीमतों के साथ, निर्यात किए जाने वाले गेहूं की मांग बढ़ रही है।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: