Home जिले जशपुर जिले के कलेक्टर से प्रेरित होकर इन युवाओं ने उठाया तालाबों की...

जिले के कलेक्टर से प्रेरित होकर इन युवाओं ने उठाया तालाबों की सफाई का जिम्मा, इस तरह पशुओं की भी कर रहे मदद….

श्यामलाल चौहान@जशपुर. एक ओर आज कल के युवा जहां सोशल मीडिया में बंध कर रह गए है। और समाज के प्रति अपने कर्तव्यों से दूर जा रहे है। वही दूसरी और जिले के पत्थलगांव में युवा संगठन एक अलग ही मिशाल पेश कर रहा है। इस संगठन के द्वारा नगर की साफ सफाई में लगातार […]

212

श्यामलाल चौहान@जशपुर. एक ओर आज कल के युवा जहां सोशल मीडिया में बंध कर रह गए है। और समाज के प्रति अपने कर्तव्यों से दूर जा रहे है। वही दूसरी और जिले के पत्थलगांव में युवा संगठन एक अलग ही मिशाल पेश कर रहा है। इस संगठन के द्वारा नगर की साफ सफाई में लगातार सक्रियता दिखाई जा रही है। जिसके तहत आज इन युवाओं द्वारा नगर में गुरुकुल कॉलेज के स्थित कुर्शीबूढ़ी तालाब की साफ़ सफाई की गई।

आपको बता दें युवा संगठन द्वारा लगातार सराहनीय काम किए जा रहे है। इन युवाओं ने नगर में मवेशियों की हालत पर नजर बनाए हुए है और स्वयं अपने खर्चें से मवेशियों का इलाज भी करवा रहे हैं। वही पूर्व में बेजा कब्जा हो चुके कुर्शीबूढ़ी को मुक्त करवाने को लिए पत्थलगांव विधायक रामपुकार को ज्ञापन भी सौंप चुके है। जिसके बाद विधायक रामपुकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पत्थलगांव एसडीएम श्रवण कुमार टण्डन को बेजा कब्जा हटवाने के लिए आदेश जारी किया।

जिसके बाद एसडीएम ने नगर पंचायत सीएमओ को आदेश जारी करते हुए बेजाकब्जा हटवा कर तालाब का सौंदर्यीकरण करने को कहा था। अधिकारी की सक्रियता को देखते हुए युवा संगठन ने खुद ही साफ सफाई का जिम्मा उठा लिया और इस काम में भीड़ गए।

इस युवा संगठन के अध्यक्ष आदर्श पाठक और उनके युवा साथी मयंक रोहिला, शुभम बंसल, दिनु यादव, गुलशन पांडेय, गिरवर ठाकुर, मोंटी साहू, सजल सोनी, माघवेंद्र देवांगन, अमन प्रताप, अमन सिंह, हितेश, नीलेश एवं अन्य साथी साफ सफाई के काम में सहभागी रहे।

अध्यक्ष आदर्श पाठक ने बताया कि आम जन लोगों के हित के लिए यह कार्य किये जा रहे है क्योंकि इस तालाब पर बेज़ाक़ब्जा कई वर्षों से था पर नगर पंचायत की नज़र आजतक नही पड़ी थी। जशपुर जिले के कलेक्टर निलेश कुमार श्रीरसागर जशपुर के रानी सती तालाब को नई मैरीन ड्राइव की तरह बनाना चाहते है उनके प्रेरणादायक कार्य को देखते हुए हमारे युवा टीम ने फैसला किया कि तालाब को साफ करना चाहिए। जिसके बाद मैं और मेरी युवा टीम तालाब के साफ सफ़ाई करने में लग गए और भविष्य में भी इस तरह के कार्य करते रहेंगे।