Home जिले अस्पताल है या मजाक..1 डॉक्टर और 29 घायल.. कैसे होगा इनका इलाज..पढ़िए...

अस्पताल है या मजाक..1 डॉक्टर और 29 घायल.. कैसे होगा इनका इलाज..पढ़िए पूरी खबर

रविकांत तिवारी@गरियाबंद। जहां एक ओर प्रशासन स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरूस्त करने की बात करते हैं। दूसरी ओर स्थिति इससे उलट हैं। जिले में 3 अलग-अलग दुर्घटनाओं में दो दर्जन के करीब लोग घायल हुए। मगर घायलों को अस्पताल ले जाने वाली संजीवनी 108 खुद काफी दिनों से बीमार पड़ी है। यहीं नहीं गरियाबंद का जिला […]

अस्पताल है या मजाक..1 डॉक्टर और 29 घायल.. कैसे होगा इनका इलाज..पढ़िए पूरी खबर

रविकांत तिवारी@गरियाबंद। जहां एक ओर प्रशासन स्वास्थ्य सुविधाओं को दुरूस्त करने की बात करते हैं। दूसरी ओर स्थिति इससे उलट हैं। जिले में 3 अलग-अलग दुर्घटनाओं में दो दर्जन के करीब लोग घायल हुए। मगर घायलों को अस्पताल ले जाने वाली संजीवनी 108 खुद काफी दिनों से बीमार पड़ी है।

यहीं नहीं गरियाबंद का जिला अस्पताल डॉक्टरों की कमी से जूझ रहा है। इतने घायल लोगों का इलाज सिर्फ एक डॉक्टर चौहान के बदौलत हो रहा है। अस्पताल में इन खामियों को देखते हुए नगरपालिका अध्यक्ष गफ्फु मेमन के साथ सभी पार्षद स्वाथ्य सुविधा को दुरुस्त करने की मांग को लेकर अस्पताल प्रांगण में धरना प्रदर्शन पर बैठ गए हैं। इन खामियों को देखते हुए नगर पंचायत अध्यक्ष का कहना है कि सुविधा दुरुस्त नहीं होते तक धरने पर अड़े रहने की बात कही है।

3 हादसे और दो दर्जन से अधिक लोग घाय
जिला मुख्यालय में शिवरात्रि के दिन 3 अलग-अलग हादसों में दो दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए हैं। जिनमें 5 की हालत गंभीर बताई जा रही है। जिन्हें बेहतर इलाज के लिए रायपुर रिफर किया गया है।

बताया जा रहा है कि महाशिवरात्रि के अवसर पर भूतेश्वरनाथ के दर्शन कर आ रहे 25 लोगों से भरा छोटा हाथी अनियंत्रित होकर पलट गई। इसी तरह मोटरसायकल में गजानन्द ध्रुव जो पांडुका के तरफ से गरियाबंद आ रहा था।

इसी दौरान सामने से आ रहे व्यक्ति को ठोकर मारा। इस हादसे में दोनों को गंभीर चोंटे आई है। उसी दौरान कचनाधुर्वा के पास एक स्कार्पियो के पलट जाने से उसमे सवार 5 लोगो को गम्भीर चोट लगी।