Home जिले धान खरीदी की तिथी बढ़ाने के सारे कयासों पर लगाम लगाते हुए...

धान खरीदी की तिथी बढ़ाने के सारे कयासों पर लगाम लगाते हुए मंत्री ने कहीं ये बड़ी बात, पढ़िए

अंकित सोनी@सूरजपुर। पहुंचे खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने प्रदेश में धान खरीदी की तिथी बढ़ाने को लेकर लग रहे कयासों पर यह कहकर विराम लगा दिया की सभी विकल्प खूले हैं। और 15 तारीख आने के बाद जो भी स्थित बनेगी उस पर मुख्यमंत्री को फैसला लेना है। आपको बता दें खाद्य मंत्री अमरजीत भगत […]

धान खरीदी की तिथी बढ़ाने के सारे कयासों पर लगाम लगाते हुए मंत्री ने कहीं ये बड़ी बात, पढ़िए

अंकित सोनी@सूरजपुर। पहुंचे खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने प्रदेश में धान खरीदी की तिथी बढ़ाने को लेकर लग रहे कयासों पर यह कहकर विराम लगा दिया की सभी विकल्प खूले हैं। और 15 तारीख आने के बाद जो भी स्थित बनेगी उस पर मुख्यमंत्री को फैसला लेना है।

आपको बता दें खाद्य मंत्री अमरजीत भगत सपरिवार मध्यप्रदेश के मैहर दर्शन के लिए निकले हैं। इस दौरान कार्यकर्ताओं से मिलने रेस्ट हासउ में रूके थे। मंत्री अमरजीत पत्रकारेां से बात करते हूए कहा की अभी तक जिले में 90 फिसदी से अधिक धान की खरीदी हो चूकी है। हमने जो व्यवस्था दी थी उसमें छोटे खातेदारों के धान खरीदने की अलग व्यव्स्था दी थी। यही कारण है कि अभी सिर्फ बड़े खातेदार ही बचे हैं। अब उनकी संख्या भी कम है। पिछली सरकार ने 80 लाख मिट्रिक टन धान खरीदने का लक्ष्य था। जिसे कांग्रेस की सरकार ने बढ़ा कर 85 लाख मिट्रिक टन धान खरीदने का लक्ष्य रखा है।

इस लक्ष्य का 90 फिसदी से अधिक धान की खरीदी हो चूका है। जबकी धान खरीदने के लिए अभी आठ दिन शेष है। इसके अलावा जिले के कलेक्टरों से भी जानकारी ले रहे हैं जिसमें उनका भी यही कहना है की वर्तमान में जो व्यवस्था धान खरीदी के लिए बनाई गई है उससे लगता नहीं की समय बढ़ाने की जरूरत पड़ेगी। वहीं कल स्वास्थ्य मंत्री टि0एस0 सिंहदेव ने भी धान खरीदी की समय बढ़ाने की बात कही थी उस पर भी खाद्य मंत्री ने कहा की 15 तारीख को बैठक की जायेगी जो उसके बाद जो भी स्थिति बनेगी उसका निर्णय मुख्यमंत्री को लेना है।

पूर्व गृहमंत्री के धान खरीदी पर सवाल उठाने के मसले पर चूटकी लेते हूए कहा की जब वे मंत्री थे तब तो किसानों के समानधान के लिए कभी आगे नहीं आए। जब किसाना का पूरा धान खरीद कर समय पर भुगतान किया जा रह है तो उनको नहीं दिख रहा है। मंत्री ने ये भी कहा कि अभी तक प्रदेश सरकार ने अभी तक किसानों को 11 हजार करोड़ रूपये का भुगतान कर दिया है। अकेले सूरजपुर जिले के किसानों को दो सौ करोड रूपये का भुगतान उनके खाते में कर दिया गया है।