बिज़नेस (Business)

RBI की एमपीसी की बैठक समाप्त, रेपो रेट में कोई चेंज नहीं, अब सस्ते लोन के लिए करना पड़ेगा Wait

नई दिल्ली। (RBI) ग्राहकों को एक बार फिर ईएमआई और लोन की ब्याज दरों पर किसी प्रकार की राहत नहीं मिली है. 6 अक्टूबर से शुरू हुई (RBI) यानी की भारतीय रिजर्व बैंक की एमपीसी की बैठक समाप्त हो चुकी है.  रेपो रेट को लेकर बैठक में किसी प्रकार का बदलाव नहीं हुआ. जो कि 4 फीसदी पर बरकरार है. मार्जिनल स्टैंडिंग फैसिलिटी (MSF) रेट भी 4.25 फीसदी पर स्थिर है।

दास ने आगे कहा कि रिवर्स रेपो रेट को भी 3.35 फीसदी पर स्थिर रखा गया है। इसके साथ ही बैंक रेट में भी कोई बदलाव नहीं करने का फैसला लिया गया है। यह 4.25 फीसदी पर है।

केंद्रीय बैंक ने मौद्रिक रुख को ‘उदार’ बनाए रखा है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI)  ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 में देश की वास्तविक जीडीपी में 9.5 फीसदी की तेजी का अनुमान लगाया है।

पहली तिमाही में देश की वास्तविक जीडीपी 17.1 फीसदी

शक्तिकांत दास ने कहा कि इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर 7.9 फीसदी, तीसरी तिमाही में 6.8 फीसदी और चौथी तिमाही में 6.1 फीसदी है। वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में देश की वास्तविक जीडीपी 17.1 फीसदी रह सकती है।

बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान देश के कई हिस्सों में लॉकडाउन लगा था. जिसका असर भारतीय अर्थव्यवस्था पर भी पड़ा. मगर पाबंदियों में ढील दी गई थी. रिजर्व बैंक ने आखिरी बार 22 मई 2020 को नीतिगत दरों में संशोधन किया था.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: