रायपुरछत्तीसगढ़

Raipur: फार्मासिस्ट कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री, टीएस सिंहदवे ने सीएम की तारीफ में कहा- सीएम के बेहतर कामों की पूरे देश में चर्चा, वहीं भूपेश बघेल ने कहा- कका अभी जिंदा है….तालियों से गूंजा ऑडिटोरियम

रायपुर। (Raipur) मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पंडित दीनदयाल ऑडिटोरियम में फार्मासिस्ट कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए। वर्ल्ड फार्मासिस्ट डे के उपलक्ष्य में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आयोजित हुई। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव , राज्यसभा सांसद छाया वर्मा  कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए।मुख्यमंत्री ने दीप जलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की। फार्मासिस्ट कांफ्रेंस में मुख्यमंत्री के साथ स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव भी शामिल हुए।  स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की तारीफ़ करते हुए कहा कि हर क्षेत्र में बेहतर काम कर रहें हैं।  स्वास्थ्य विभाग में भी करीब तीन हजार नए पदों पर भर्ती की स्वीकृति दी है। (Raipur)  छत्तीसगढ़ के कामों की देशभर में चर्चा हो रही है।

स्वास्थ्य मंत्री ने सभी फार्मासिस्ट को दी बधाई

(Raipur) स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सभी फार्मासिस्ट को बधाई दी। उन्होंने आगे कहा कि सीएम ने सभी विभागों में बेहतर कार्यो और ज़िम्मेदारियों को निभाया है। कई और फार्मासिस्टों की मांगों को पूरा करने लेकर सीएम आग्रह किया। व्यवहारिकता की कमी बनी हुई है, यह भी जल्द से जल्द दूर हो जाएंगी।

Raid: 8900 कैरेट के बेहिसाबी हीरों का चला पता, छापेमारी के दौरान 1.95 करोड़ रुपए नगदी और आभूषण जप्त, आयकर विभाग की बड़ी कार्रवाई

कोरोना काल मे फार्मासिस्ट ने जो किया उन्हें मैं करता हूं सैल्यूट

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री ने जिस बात से अपनी बात खत्म की मैं वही से शुरू करता हूँ। जितना काम कोरोना काल मे फार्मासिस्ट ने किया है उन्हें मैं सैल्यूट करता हूँ। छत्तीसगढ़ में कोरोना से लड़ने के लिए आप सभी ने एकजुटता दिखाई है। कोरोना की लड़ाई में संक्रमण को कम करने में सफलता हासिल की है।

सीएम ने कहा-कका अभी जिंदा है

संबोधन के बीच में सीएम ने कहा कि कका अभी जिंदा है।  यह कहते ही पूरा ऑडिटोरियम तालियों से गुंजा। लघुवनोपज की फैक्ट्री कोई डालना चाहे तो उसे पूरी छूट मिलेगी।

मुख्यमंत्री ने मजाकिया लहज़े में कहा कि कोरोना से पहले ज्यादातर लोगों को ऑक्सीजन बेड और वेंटिलेटर और शरीर मे कितनी ऑक्सीजन होनी चाहिए इसके बारे में नहीं जानते थे। टीएस साहब स्वास्थ्य मंत्री है, उन्हें भले ही मालूम रहा हो…। आज स्वास्थ्य सबसे ज्यादा खर्चीला हो गया है। छत्तीसगढ़ में वनौषधि से भरा भंडार हैं। जो भी वनौषधियों से दवाई बनाने को लेकर फैक्टरी लगाना चाहता है उनका स्वागत है. हम उन्हें सभी संसाधन उपलब्ध कराएंगे।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: