Uncategorized

Punjab Congress Fight: सिद्धू को मनाने के मूड में नहीं है कांग्रेस, हरीश रावत का पंजाब दौरा रद्द, अब नए प्रदेश अध्यक्ष की तलाश….क्या सिंह की बढ़ेगी मुश्किल

चंडीगढ़। (Punjab Congress Fight) पंजाब में सिद्धू की नाराजगी ने कांग्रेस के सामने मुश्किले खड़ी कर दी है. नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया. इसके पीछे सिद्धू के मन मुताबिक काम ना होना बताया जा रहा है. पहली नाराजगी सिद्धू को चन्नी के सीएम बनाने से हुई. राजनीतिक विशेषज्ञ बता रहे हैं कि फिर कैबिनेट में मंत्रियों के पद से लेकर अफसरों के ट्रांसफर तक में सिद्धू का ना सुना जाना उनकी नाराजगी को बढ़ा दिया.

(Punjab Congress Fight) सिद्धू के पद से हटने के बाद कांग्रेस के सामने परेशानी जरूर आई है. लेकिन पार्टी झूकने को तैयार नहीं है. सिद्धू को मनाने के बजाय पार्टी नया प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष खोजने में जुट गई है. यानी कि पूरा मिला जुला कर सिद्धू की परेशानी बढ़ने वाली है. (Punjab Congress Fight) पंजाब में पैदा हुए ताजा हालात को लेकर आलाकमान हरीश रावत को चंडीगढ़ भेजने वाली थी. एन वक्त पर पार्टी ने उनका दौरा रद्द कर दिया. इसे देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि पार्टी भी सिद्धू को मनाने के मूड में नहीं है.

Corona: देश में कोरोना की धीमी रफ्तार, 20 हजार से कम नए केस, बीते 24 घंटे में 18,870 नये मामलों की पुष्टि

नए प्रदेश अध्यक्ष की खोज

अब पार्टी आलाकमान चन्नी को लेकर आगामी विधानसभा चुनाव लड़ना चाहती है. अब अगला कदम नए प्रदेश अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर हैं.

इस रेस में दो नाम अभी तक सबसे आगे चल रहे हैं, जिनमें कुलजीत नागरा और रवनीत सिंह बिट्टू शामिल हैं. कुलजीत अभी कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष हैं जबकि रवनीत लोकसभा सांसद हैं, जो संसद सत्र के दौरान सुर्खियों में रहे हैं.

Chhattisgarh: आदिवासियों के आस्था के केन्द्र बड़ेडोंगर और अमर शहीद गैंद सिंह की कर्मस्थली परलकोट पर्यटन स्थल के रूप में होगी विकसित, सीएम ने की घोषणा

सिद्धू के समर्थन में कई नेताओं का इस्तीफा

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू ने मंगलवार को प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया, उन्होंने कहा कि वह किसी भी तरह से समझौता नहीं कर सकते हैं. नवजोत सिंह सिद्धू के इस कदम के बाद उनके समर्थन में कई समर्थकों ने पद छोड़ दिया.

रजिया सुल्ताना ने मंत्री पद छोड़ा तो फिर पंजाब कांग्रेस के कुछ अन्य सदस्यों ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया. जिसके बाद कांग्रेस के सामने नई चुनौती खड़ी हो गई है.  

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: