Home अन्य दंतेवाड़ा (दक्षिण बस्तर) कल होगा आदिवासियों का बस्तर में बड़ा प्रदर्शन, अडाणी को बैलाडीला खदान...

कल होगा आदिवासियों का बस्तर में बड़ा प्रदर्शन, अडाणी को बैलाडीला खदान देने का कर रहे विरोध

दंतेवाड़ा. बैलाडीला की लौह अयस्क खदान नम्बर 13 को बिना ग्रामसभा के अनुमति के उद्योगपति अडानी को दिये जाने के विरोध में कल से आदिवासी के लामबंद होकर शुक्रवार को एनएमडीसी मुख्यालय में बस्तर का सबसे बड़ा प्रदर्शन होने की संभावना जताई जा रही है। गुरुवार से जिले के सभी गांवों से आदिवासी इकट्ठा होना […]

158
प्रदर्शन
प्रदर्शन

दंतेवाड़ा. बैलाडीला की लौह अयस्क खदान नम्बर 13 को बिना ग्रामसभा के अनुमति के उद्योगपति अडानी को दिये जाने के विरोध में कल से आदिवासी के लामबंद होकर शुक्रवार को एनएमडीसी मुख्यालय में बस्तर का सबसे बड़ा प्रदर्शन होने की संभावना जताई जा रही है। गुरुवार से जिले के सभी गांवों से आदिवासी इकट्ठा होना शुरु कर दिये हैं।

बीजापुर और सुकमा क्षेत्र के ग्रामीण 2 दिन पहले से ही हड़ताल में शामिल होने को निकले गए है। 50 किमी से अधिक दूरी तय कर पैदल ग्रामीण पहुच रहे है।

दरअसल खदान शुरू करने से पहले लाखों-हज़ारों पेड़ काट दिये जाएंगे, जिसके विरोध में ग्रामीण हड़ताल कर रहे है। उनका कहना है कि आराध्य देव पर्वत नन्दीराज की आस्था को चोट पहुंचाकर खदान पर अगर काम शुरू हुआ तो ट्रेन रुकेगी, बसों के पहिये थमेंगे… हम मर भी जायेगे तो भी पीछे नहीं हटेंगे। ट्रेन रोकेंगे, बस रोकेंगे, सारा काम रोक देंगे… जब तब तक खदान में काम बंद करने के लिए ठोस पहल नहीं होगी तब तक हम पीछे नही हटेंगे. इसके लिए भले ही हमें अपनी जान क्यों न देना पड़े

आंदोलनकारियों का कहना है कि खदानों से होने वाले नुकसान और प्राकृतिक संसाधनों का दोहन करने पर पूर्ववर्ती भाजपा सरकार और नई बनी कांग्रेस सरकार दोनों ही जिम्मेदार है।