Home जिले OP Gupta scandal: पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष को कोर्ट से मिली बेल,...

OP Gupta scandal: पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष को कोर्ट से मिली बेल, वकील ने कहा- मामला राजनीतिक षड्यंत्र

राजनादंगांव। ओपी गुप्ता कांड (OP Gupta scandal) में अपहरण के मामले में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जबिता मंडावी को नाबालिग लड़की के अपहरण मामले में गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था। जिसके बाद जबित मंडावी (OP Gupta scandal)को कोर्ट से रिहा किया गया। बस्तर जिला पंचायत की पूर्व अध्यक्ष जबिता मंडावी नाबालिग लड़की के […]

OP Gupta scandal
OP Gupta scandal

राजनादंगांव। ओपी गुप्ता कांड (OP Gupta scandal) में अपहरण के मामले में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष जबिता मंडावी को नाबालिग लड़की के अपहरण मामले में गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था।

जिसके बाद जबित मंडावी (OP Gupta scandal)को कोर्ट से रिहा किया गया।

बस्तर जिला पंचायत की पूर्व अध्यक्ष जबिता मंडावी नाबालिग लड़की के अपहरण का आरोप है।

Corona update: भारत में 24 घंटे के भीतर 6 हजार से अधिक केस, 137 लोगों की मौत

ओएसडी गुप्ता द्वारा कथित दुष्कर्म मामले (OP Gupta scandal)की शिकार पीड़िता के परिवार को ओडिशा में गोपनीय स्थान पर रखने का आरोप है।

Corona: अब नए सिरे से रेड और ऑरेज जोन में शामिल हुए जिले, देखे लिस्ट

इससे पहले पुलिस ने ओपी गुप्ता के भाई समेत 4 लोगों को गिरफ्तार किया था।

Kawardha: अचानक धूं-धूं कर जलने लगा मकान, उजड़ा गरीब का आशियाना

जिसके बाद पुलिस को बस्तर के पूर्व जिला अध्यक्ष की तलाश थी। जो कि लंबे समय से फरार चल रही थी।

राजनांदगांव के नए एसपी जितेन्द्र शुक्ला ने इस मामले में फरार जबिता मंडावी की तलाश में जुट गई थी।

जिसके बाद फरार चल रही जबिता मंडावी को पुलिस ने गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया।

जबिता मंडावी के वकील का आरोप है कि यह पूरा मामला राजनीतिक षड्यंत्र से ओतप्रोत था।

जिसमे जबिता मंडावी को बलि का बकरा बनाया गया।

जबिता मंडावी को जब पता चला कि अपहरण मामले के राजनांदगांव पुलिस उन्हें ढूंढ रही है,

तो उहोंने स्वयं पुलिस के समक्ष सरेंडर किया। न्यायालय ने उन्हें बेल दे दी।