Home जिले कांकेर (उत्तर बस्तर) प्रभारी कलेक्टर ने स्कूलों और विशेष दिव्यांग केन्द्र बागोडार का किया औचक...

प्रभारी कलेक्टर ने स्कूलों और विशेष दिव्यांग केन्द्र बागोडार का किया औचक निरीक्षण

कांकेर. प्रभारी कलेक्टर एवं जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ संजय कन्नौजे ने कांकेर विकासखण्ड के नंदनमारा प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक स्कूल, माकड़ी के प्राथमिक शाला, माध्यमिक शाला, हाई स्कूल, प्राथमिक शाला बांधापारा बागोडार और बागोडार के विशेष दिव्यांग प्रशिक्षण केन्द्र का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान प्रभारी कलेक्टर कंन्नौजे ने प्राथमिक शाला नंदनमारा […]

260
kanker

कांकेर. प्रभारी कलेक्टर एवं जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ संजय कन्नौजे ने कांकेर विकासखण्ड के नंदनमारा प्राथमिक शाला एवं माध्यमिक स्कूल, माकड़ी के प्राथमिक शाला, माध्यमिक शाला, हाई स्कूल, प्राथमिक शाला बांधापारा बागोडार और बागोडार के विशेष दिव्यांग प्रशिक्षण केन्द्र का औचक निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान प्रभारी कलेक्टर कंन्नौजे ने प्राथमिक शाला नंदनमारा के शिक्षिका निलीमा गौतम को उपस्थिति पंजी में हस्ताक्षर नहीं करने पर उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश उपस्थित खण्ड शिक्षा अधिकारी को दिए। स्कूल मैदान में बच्चों से वृक्षारोपण कराकर पौधों की देख-रेख भी बच्चों से कराने शिक्षकों को निर्देशित किए।

उन्होंने हाई स्कूल माकड़ी के प्रभारी प्राचार्य शिवप्रसाद को बिना अनुमति के मुख्यालय से अनुपस्थित पाए जाने पर कारण बताओं नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। विद्यालय के छत से पानी रिसाव होने की जानकारी विद्यार्थियों के देने पर तत्काल छत का मरम्मत कराने उपस्थित खण्ड शिक्षा अधिकारी को निर्देशित किए।

विद्यालय में पीने की पानी की समस्या को देखते हुए ग्राम पंचायत के बोर से पानी सप्लाई कराने के निर्देश दिए। उन्होंने बच्चों से पूछा कि पढ़कर आप लोग क्या बनना चाहते हैं? बच्चों ने अपनी-अपनी जिज्ञासा को जाहिर करते हुए बताए किसी ने कलेक्टर, इंजीनियर, डॉक्टर, शिक्षक, सैनिक, तहसीलदार आदि बनने की जानकारी दी। प्रभारी कलेक्टर ने बच्चों से पूछा डॉक्टर बनने के लिए क्या परीक्षा उर्तीण करना पड़ता है? तो कोई भी बच्चों ने इसकी जानकारी नहीं दिए। तभी शिक्षकों को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रतियोगिता परीक्षा के संबंध में पढ़ाई के साथ-साथ विद्यार्थियों को प्रतियोगिता परीक्षा की जानकारी समय समय पर देते रहना चाहिए।

उन्होंने प्राथमिक शाला बांधापारा बागोडार में बच्चों से पहाड़ा, पुस्तक और यूनिफार्म वितरण के बारे में जानकारी लिया। बच्चों से मध्यान भोजन, सब्जी, दाल आदि की भी जानकारी ली। बच्चों ने पहाड़ा नहीं सुनाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए प्राथमिक शाला के प्राचार्य गौतम सिंह मण्डावी को फटकार लगाई। बरसात के पानी में स्कूल के व्हाण्उड्रीवाल गिर गया है उसे शीघ्र बनाने के निर्देश प्राधानाध्यापक को दिए।

निरीक्षण के दौरान प्रभारी कलेक्टर कन्नौजे ने जिले के समस्त संकुल समन्वयकों को प्रतिदिन अपने-अपने संकुलों के विद्यालयों का नियमित रूप से निरीक्षण करने के निर्देश खण्ड शिक्षा अधिकारी कांकेर भुवन जैन को दिए।

प्रभारी कलेक्टर ने किया विशेष दिव्यांग प्रशिक्षण केन्द्र बागोडार का निरीक्षण-

प्रभारी कलेक्टर एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ. संजय कन्नौजे ने किया विशेष दिव्यांग प्रशिक्षण केन्द्र बागोडार का निरीक्षण किया। उन्होंने दिव्यांग प्रशिक्षण केन्द्र के स्वीकृति सीट और उपस्थित बच्चों की संख्या के बारे में जानकारी लिया। अधीक्षक दीपक सोनवानी ने बताया कि श्रवण बाधित के 33 और दृष्टि बाधित के 07 बच्चें अध्यनरत हैं। प्रभारी कलेक्टर ने प्रशिक्षण केन्द्र के सभी कमरों का अवलोकन करते हुए बच्चों से परिचय पूछा बच्चों ने अपने हाथों के उगलियों के ईशारे में नाम की जानकारी दिए। उन्होने प्रशिक्षण केन्द्र के श्रवण यंत्र को अपने कानो में लगाकर जांच किया। रसोई कक्ष और भण्डार कक्ष का भी जायजा लिया तथा शौचालय एवं अन्य कमरों साफ-सफाई रखने के निर्देश दिए।

उन्होंने अधीक्षक से पूछा बच्चों के खेलने के लिए क्या-क्या साधन है? तब अधीक्षक ने बताया कि बच्चों के खेलने के लिए क्रिकेट, कैरम, शतरंज आदि खेलने के सामग्री उपलब्ध होने की जानकारी दी। प्रभारी कलेक्टर ने बच्चों से कहा विद्यालय में जो भी कमी महसुस हो रही है उसकी जानकारी दें? तभी अधीक्षक ने अतिरिक्त कक्ष और व्हाण्उड्रीवाल बनाने की मांग की। प्रभारी कलेक्टर कन्नौजे ने उनके मांग को त्वरित निराकरण करते हुए प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश खण्ड शिक्षा अधिकारी को दिए।