Chhattisgarh

Raipur: होटल नंबर 302 के मर्डर मिस्ट्री का पर्दाफाश, दोस्त की मां से था डॉक्टर का अवैध संबंध, गला घोंटकर कर दी हत्या, जानिए कैसे की पूरी प्लानिंग

रायपुर। (Raipur) राजधानी रायपुर के गंज थाना इलाके में बुधवार शाम मध्यप्रदेश के एक डॉक्टर की संदिग्ध मौत के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है।डॉक्टर का दोस्त ही उसका कातिल निकला। गला दबाकर उसी ने जान ली और लाश को फंदे से लटकाया था। आरोपी ने बताया कि उसने पूरी वारदात को डॉक्टर के उसकी मां से अवैध संबंध होने के कारण अंजाम दिया।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार (Raipur) Dhamtari: शहरी क्षेत्र के 14 दुकानों में पहुंचा खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला, 41 नमूनों में 9 खाद्य पदार्थ गलत, फफुंद लगे मगज लड्डू को कराया नष्ट्र21 सितंबर को मध्यप्रदेश के उमरिया के रहने वाले डॉक्टर जितेंद्र विश्वकर्मा (34) ने अपने दोस्त अनूपपुर निवासी अजय निषाद के साथ रायपुर आकर होटल संदीप में कमरा नंबर 302 में ठहरे थे। मध्यप्रदेश से आए इन दोनों युवकों ने होटल वालों को रायपुर शॉपिंग के लिए आना बताया था। गुरुवार को पुलिस को जितेंद्र के खुदकुशी कर लेने की खबर मिली थी। जब टीम जांच के लिए आई तो दोस्त अजय ने बताया था कि वो खाने का पार्सल लेने नीचे गया था। जितेंद्र का दिनभर अपनी पत्नी से झगड़ा हो रहा था फोन पर जब वो लौटा तो जितेंद्र ने कमरे में तोड़-फोड़कर फांसी लगा ली।

(Raipur) पुलिस से मामले को संदिग्ध मानकर उसके दोस्त अजय निषाद को रायपुर में ही रोक रखा था, दरअसल पुलिस को मिली शॉर्ट पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में जितेंद्र की मौत गला दबाने से होने का जिक्र था। ये भी लिखा था कि मौत के बाद उसे फंदे से लटकाया गया है।

Dhamtari: शहरी क्षेत्र के 14 दुकानों में पहुंचा खाद्य परीक्षण प्रयोगशाला, 41 नमूनों में 9 खाद्य पदार्थ गलत, फफुंद लगे मगज लड्डू को कराया नष्ट्र

अवैध प्रेम संबंध बनी मौत की वजह

पुलिस ने जब कड़ाई पूछताछ की तो उसने बताया कि वो जितेंद्र की हत्या करने की प्लानिंग से ही उसे यहां लेकर आया था। दोनों के बीच गहरी दोस्ती थी। दोनों के परिवारों के बीच भी घरेलू संबंध थे। 34 साल के डॉक्टर जितेंद्र का आरोपी अजय की अधेड़ मां से रिश्ता था। दोनों के बीच बीते कई महीनों से संबंध था। इस बात की खबर अजय को लग गई उसके दोस्त ने मां को अपने प्रेमजाल में फंसा रखा ये जानकार उसने उसकी हत्या करने की ठान ली।

ऐसे की प्लानिंग

जितेंद्र पहले से शादीशुदा था। उसकी पत्नी से नहीं बनती थी। इसी अनबन को अजय ने अपनी हत्या की प्लानिंग और सुसाइड की झूठी कहानी का आधार बना लिया। शॉपिंग करने के बहाने वो जितेंद्र को रायपुर ले आया। जितेंद्र के परिवार और पुलिस को पत्नी से अनबन को सुसाइड कर लेने की वजह बताकर कहानी पुलिस को सुना दी थी।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: