Home देश - विदेश 10 सरकारी बैंकों का विलय करने का सरकार ने लिया फैसला, अब...

10 सरकारी बैंकों का विलय करने का सरकार ने लिया फैसला, अब सिर्फ 12 सरकारी बैंक रह जाएंगे पूरे देश में

नई दिल्ली। सरकार ने बैंकिंग सेक्टर में बड़ा ऐलान करते हुए 10 सरकारी बैंकों का विलय करने का फैसला लिया है। इन सभी 10 बैंकों का विलय करके कुल चार बैंक बनाए जाएंगे। इन चार बैंकों का कुल कारोबार 55.81 लाख करोड़ का होगा। गौरतलब है कि 2017 तक देश में 27 सरकारी बैंक हुआ […]

नई दिल्ली। सरकार ने बैंकिंग सेक्टर में बड़ा ऐलान करते हुए 10 सरकारी बैंकों का विलय करने का फैसला लिया है। इन सभी 10 बैंकों का विलय करके कुल चार बैंक बनाए जाएंगे। इन चार बैंकों का कुल कारोबार 55.81 लाख करोड़ का होगा। गौरतलब है कि 2017 तक देश में 27 सरकारी बैंक हुआ करती थी, जो कि अब 12 रह जाएंगी। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस काँफ्रेंस में कहा कि पिछले साल तीन बैंकों के विलय से काफी फायदा हुआ था, इसे देखते हुए सरकार द्वारा यह कदम उठाया गया है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने ऐलान करते हुए कहा कि पीएनबी, ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का आपस में विलय किया जाएगा। इसके अलावा कैनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक का भी विलय होगा। साथ ही यूनियन बैंक का आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक ऑफ इंडिया में विलय कर दिया जाएगा। कारोबार की बात करें तो इनसे 14.59 लाख करोड़ की संभावना व्यक्त की जा रही है। इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक के विलय से लगभग 8.08 लाख करोड़ का कारोबार होगा।