कांकेर (उत्तर बस्तर)

Kanker: इस वजह से 300 गांव के ग्रामीण हुए लामबंद…..नाराज आदिवासी समाज ने उठाया उग्र कदम…जानिए क्या है पूरा मामला

देवाशीष विस्वास@पंखाजूर।  (Kanker) पिछले कई दिनों से आंदोलन करने और ज्ञापन सौंपने के बावजूद मांगे पूरी नही होने से नाराज सर्व आदिवासी समाज ने उग्र कदम उठाया है। बारह सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन में लगभग 300 गांव के ग्रामीण एकजुट हुए है।

(Kanker) सर्व आदिवासी समाज के लोगो की मांग है कि पेशा कानून ग्राम सभा को शीघ्र रूप से अमल किया जाए। ग्राम पंचायत मेंड्रा में उपस्वास्थ्य केंद्र खोलने और मेंड्रा के आश्रित गांव उरपाँजुर,नदिचुआ जैसे विद्धुतविहीन गांव में बिजली पहुंचाने और बस्तर संभाग को छठवीं अनुसूची का दर्जा मिले।

करका घाट,तुमरी घाट गांव में स्थित बीएसएफ कैंप को तत्काल हटाया जाए। बस्तर संभाग से पुलिस कैंपों को खाली कराया जाए। आदिवासियों को हिंदू आक्रमण करना बंद करें।आदिवासियों के साथ मारपीट करना और जेल डालना ,हत्या करना बंद किया जाए। जल जंगल जमीन पर सर्वाधिकार ग्राम सभा को देना चाहिए । (Kanker) तीन कृषि काले कानून को वापस किया जाए और आदिवासियों का विस्थापन बंद हो।

Ambikapur: नसबंदी शिविर में अनियमितता, खबर प्रकाशित के बाद बीएमओ व सर्जिकल विशेषज्ञ को कारण बताओ नोटिस जारी

ये तमाम मांगो को लेकर सर्व आदिवासी समाज के लोगो ने आज आर्थिक नाका बन्दी किया है।जबतक मांग पूरी नही होती तबतक समाज के लोग आंदोलन में डंटे रहने की बात कह रहे है।

Ambikapur: मंत्री अमरजीत भगत ने पूरी की किसानों की ये मांग, अधिकारियों को दिये निर्देश

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: