Uncategorized

Kanker: दो लोगों की जान लेने वाला आदमखोर तेंदुआ पिंजरे में फंसा, महीनेभर से दहशत में थे लोग

कांकेर। (Kanker) आदमखोर तेंदुआ वन विभाग के पिंजरे में कैद हो गया है. इस तेंदुए ने महीनेभर के भीतर में 2 लोगों को मार डाला. तेंदुए को पिंजरे में कैद करने के लिए दो गांवों में वन विभाग ने पिंजरा लगाया था.

दो लोगों को मार डाला

(Kanker) पलेवा और भैसाकट्टा में तेंदुए ने दो 70 साल के बुजुर्ग और 40 साल की महिला को मार डाला था. बुजुर्ग जब घर में सोया था, तब उसे उठाकर ले गया. जिसके बाद गांव में दहशत का माहौल था. दो घटनाएं घटित होने के बाद तेंदुए को पकड़ने के लिए दो अलग-अलग गांव में पिंजरा लगाया गया. (Kanker) इसके लिए 4 दिन तक इंतजार करना पड़ा. एक दिन तो पिंजरे में तेंदुए की जगह भालू के फंसे होने की बात भी सामने आई थी. पहली बार हुए हमले के बाद से ही ग्रामीण और वन विभाग की टीम इस तेंदुए की तलाश में जुटे हुए थे.

UP: काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर परिसर में हादसा, निर्माण कार्य के दौरान गिरा पत्थर, 1 मजदूर की मौत

 दहशत में थे गांव के लोग

कई बार तेंदुए को इलाके में देखा गया पर किसी भी पिंजरे में वो कैद नहीं हुआ. लगातार बढ़ रहे तेंदुए के हमले से ग्रामीण सहमे हुए थे. वो शाम होने के बाद घर से बाहर निकलना मुनासिब नहीं समझते थे.

इस बार तेंदुए को फंसाने के लिए वन विभाग ने एक बकरी को पिंजरे के अंदर रखा. बकरी को अपना शिकार बनाने के लिए जैसे ही तेंदुआ उस पर झपटा. पिंजरे का दरवाजा बंद हो गया और तेंदुआ उसमें कैद हो गया. पलेवा गांव के स्कूल के पीछे एक पिंजरा लगाया गया था जंहा तेंदुआ फंसा है. भैसाकट्टा गांव में भी एक पिंजरा लगाया गया थाय जहां दूसरा तेंदुआ फंसा है. इस तरह वन विभाग ने आतंक का पर्याय बन चुके दो तेंदुए को बीती रात दो पिंजरों में कैद करने में सफलता हासिल की है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: