Chhattisgarh

Kanker: भगवान को मनाने में जुटे किसान, अल्पवर्षा ने बढ़ाई चिंता, 80 फीसदी तक फसलें हुई खराब, 18 देवों के स्थल पर पहुंचकर विधिवत पूजा कर मांगी मन्नत

देवाशीष विस्वास@पखांजुर। (Kanker) अल्पवर्षा के चलते क्षेत्र के किसानों के सामने विकराल समस्या खड़ी हो गई है। खेतों में पानी का अभाव है। फसल खराब होने की स्थिति में है।खेतो में दरारें पड़ने लगी है। सक्षम किसान तो बोरवेल के माध्यम से खेतों में पानी पहुंचा रहे है। बावजूद क्षेत्र के 80 फीसदी किसानों की फसल बर्बादी के कगार पर पहुंच गई है। बारिश नही हुई तो निश्चित ही किसानों की समस्या विकराल रूप ले लेगी। (Kanker) खराब हो रहे फ़सल को बचाने के लिए किसान काफी जददोजहद कर रहे हैं। बावजूद बारिश के अभाव में फसल पर पड़ रहे दुष्प्रभाव का परिणाम किसानों के चेहरे पर दिख रही मायूसी से समझा जा सकता है।

(Kanker) बारिश की आस लगाए किसान अब थक चुके हैं और फसल को बचाने में जुट चुके हैं। आदिवासी समाज के प्रमुखों ने करकाघाट में स्थित बंजारिन मावली के स्थान पर पहुंचे, जहां बंजारिन मावली के साथ आदिवासी समाज के 18 देवता पत्थरों के रूप में विराजमान है। यहां विधिवत पूजा अर्चना कर बरसात कराने की विनती की। इस दौरान शनिवार को बंडाये,कलपाट, क्रिनगाल,पदाल,भोमरा,सुरेवाही,नेडसोर,कोलर, नुरदेश, लोहतर और बाँसला परगना के प्रमुख बरसात गिरने की गुहार लगाने विभिन्न देवी स्थल में पूजा अर्चना के बाद करकाघाट की बंजारिन मावली के साथ 18 देवों के स्थल पर पहुंचकर विधिवत पूजा पाठ कर पानी गिरने की मन्नत मांगी।

Chhattisgarh: किसानों की चिंता हुई खत्म, सिचाई के लिए बांधों से खेतों में छोड़ा जाएगा पानी, कृषि मंत्री का बयान, अधिकारियों को दिये निर्देश

आदिवासी समाज के प्रमुख राजा राम कोमरा, सुकमा आँचला ने बताया कि इसके बाद भी बारिश के आसार नही बने तो 24 अगस्त के बाद आराध्य देव सेह मुदिया के स्थान मोडेमरका में क्षेत्र के सैकड़ो लोग जुटेंगे और विधिवत पूजा पाठ कर बारिश की विनती करेंगे।

Chhattisgarh: ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की प्रेस कॉन्फ्रेंस , कहा- 60 साल तक थी कांग्रेस की सरकार, 40 साल तक पावर में पार्टी, ओबीसी वर्ग के लिए कुछ नहीं किया,

फसल को बचाना बड़ी चुनौती

अल्प वर्षा से फसल पर दुष्प्रभाव पड़ने लगे है।खेतों पर दरारे साफ नजर आने लगी है।जिसको देखकर किसान काफी चिंतित औऱ परेशान हो गए है।बारिश नही हुई तो बैंक से लिये हुए कर्ज को अदा करने में किसानों को काफी परेशानी होगी।बरहाल देवी स्थल पर बंजारिन मावली माता से  विनती की गई है ताकि अल्पवर्षा के संकट से बचा जाए और इलाके में अच्छी बारिश हो।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: