देश - विदेश

Income Tax Raid: दो निजी सिंडीकेट फाइनेंसिंग समूहों पर आयकर विभाग का छापा, 300 करोड़ रुपए के बेहिसाब आय की मिली जानकारी, 9 करोड़ रुपए जब्त, जांच अब भी जारी

नई दिल्ली। (Income Tax Raid) आयकर विभाग ने चेन्नई स्थित दो निजी सिंडीकेट फाइनेंसिंग समूहों पर गत 22 सितंबर को छापेमारी की थी जिसमें 300 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाब आय का पता चला है और नौ करोड़ रुपये जब्त किये जा चुके हैं।

विभाग ने आज यहां बताया कि यह छापेमारी अभियान चेन्नरई स्थित 35 परिसरों में चलाया गया। इन तलाशियों के परिणाम स्वरूप अभी तक 300 करोड़ रुपए से अधिक की बेहिसाबी आय के रूप में सामने आया है। अभी तक नौ करोड़ रुपए की बेहिसाबी नकदी जब्त की गई है। जांच अभी भी जारी है।

Raid: 8900 कैरेट के बेहिसाबी हीरों का चला पता, छापेमारी के दौरान 1.95 करोड़ रुपए नगदी और आभूषण जप्त, आयकर विभाग की बड़ी कार्रवाई

विज्ञप्ति के अनुसार, (Income Tax Raid) तलाशी के दौरान पता चला कि वे उच्च ब्याज दर वसूल रहे हैं, जिसके एक हिस्से पर कर नहीं लगता है। समूहों द्वारा अपनाए गए तौर-तरीकों से पता चला कि उधार देने वालों के द्वारा अधिकांश ब्याज भुगतान डमी बैंक खातों में प्राप्त किए गए थे और इसका खुलासा कर उद्देश्यों के लिए नहीं किया गया है।

Raipur: फार्मासिस्ट कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री, टीएस सिंहदवे ने सीएम की तारीफ में कहा- सीएम के बेहतर कामों की पूरे देश में चर्चा, वहीं भूपेश बघेल ने कहा- कका अभी जिंदा है….तालियों से गूंजा ऑडिटोरियम

(Income Tax Raid) मंत्रालय ने आगे बताया कि बेहिसाब धन को छिपाया जाता है और समूहों के खातों में असुरक्षित ऋण, विविध लेनदारों आदि के रूप में लाया जाता है। इसमें कहा गया है कि तलाशी के दौरान मिले अन्य सबूतों से इन व्यक्तियों द्वारा कई अघोषित संपत्ति निवेश और अन्य आय में कमी का पता चला।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: