Home जिले रायपुर सीएम भूपेश ने श्री गुरू तेग बहादुर सिक्ख म्युजियम का किया उद्घाटन,...

सीएम भूपेश ने श्री गुरू तेग बहादुर सिक्ख म्युजियम का किया उद्घाटन, कहा सिक्खों को मिलेगी गौरवशाली इतिहास

रायपुर, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज सिक्खों के पांचवें गुरू अर्जुन देव जी के शहादत दिवस के अवसर पर राजधानी रायपुर के श्याम नगर स्थित गुरूद्वारा गुरूनानक नगर में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने गुरू अर्जुन देव की शहादत को श्रद्धापूर्वक याद करते हुए उन्हें नमन किया और गुरू ग्रंथ साहिब के समक्ष अपना मत्था […]

89
सीएम भूपेश
सीएम भूपेश

रायपुर, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज सिक्खों के पांचवें गुरू अर्जुन देव जी के शहादत दिवस के अवसर पर राजधानी रायपुर के श्याम नगर स्थित गुरूद्वारा गुरूनानक नगर में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्होंने गुरू अर्जुन देव की शहादत को श्रद्धापूर्वक याद करते हुए उन्हें नमन किया और गुरू ग्रंथ साहिब के समक्ष अपना मत्था टेका।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरू अर्जुन देव ने अपनी शहादत से त्याग और बलिदान का रास्ता दिखाया। उनका यह बलिदान हमें युगों-युगों तक प्रेरणा देता रहेगा। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर गुरूद्वारा परिसर में निर्मित ’श्री गुरू तेग बहादुर सिक्ख म्युजियम’ का उद्घाटन किया। उन्होंने ने कहा कि यह म्युजियम आने वाली पीढ़ियों को अपने गौरवशाली और प्रेरणादायक इतिहास से परिचित करायेगा।

इस अवसर पर अमृतसर से आये ज्ञानी सुखजिंदर सिंह और गुरूद्वारा गुरूनानक नगर प्रबंधक समिति के अध्यक्ष प्रीतपाल सिंह चंडोक सहित समिति के अनेक पदाधिकारी और समाज के सदस्य बड़ी संख्या में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वर्गीय दिलीप सिंह चावला और स्वर्गीय अजिंदर सिंह चावला का सपना सिक्खों के इतिहास पर रायपुर में ’श्री गुरू तेग बहादुर सिक्ख म्युजियम’ की स्थापना करने का था, उनका यह सपना आज साकार हो रहा है।

चावला परिवार की मंजित कौर चावला और उनके परिवार जनों ने म्युजियम की स्थापना करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उनके प्रयासों से राजधानी में एक दर्शनीय स्थल निर्मित हुआ है। उन्होंने कहा कि सिक्ख समाज एक जिन्दा दिल कौम है, मैं जब भी इनके बीच आता हूं, मुझे नई ऊर्जा मिलती है। सिक्ख म्युजियम में सिक्खों के गुरूओं के चित्रों के साथ उनका इतिहास प्रदर्शित किया गया है।  अमृतसर के स्वर्ण मंदिर की सुंदर प्रतिकृति और सिक्खों के तीर्थ स्थलों की जानकारी भी सुरूचिपूर्ण ढ़ंग से म्युजियम में प्रदर्शित की गई है। म्युजियम में सिक्खों के इतिहास से संबंधित पुस्तकों की एक लाइब्रेरी भी बनाई गई है।