Home जिले कांकेर (उत्तर बस्तर) ग्रामीणों के आक्रोश से बचने के लिए नक्सलियों ने अपनाई नई तरकीब…...

ग्रामीणों के आक्रोश से बचने के लिए नक्सलियों ने अपनाई नई तरकीब… बम धमाके का दोषी ठहराया पुलिस को… आईईडी बम धमाके में ग्रामीण की हुई थी मौत…

देबाशीष बिस्वास@कांकेर. जिले में स्वतंत्रता दिवस के दिन एक आईईडी बम धमाके में एक ग्रामीण शख्स की मौत हो गई थी. आज सुबह आमाबेड़ा थाना क्षेत्र के गेडगांव में नक्सलियों ने बैनर लगाकर इस घटना के लिए पुलिस प्रशासन को दोषी ठहराया है. माओवादियों की किसकोड़ो एरिया कमेटी ने दावा किया है कि उसेली गांव […]

105
ग्रामीणों के आक्रोश से बचने के लिए नक्सलियों ने अपनाई नई तरकीब अपने द्वारा लगाए गए बम धमाके का ठीकरा फोड़ा पुलिस पर आईईडी बम धमाके में ग्रामीण की हुई थी मौत

देबाशीष बिस्वास@कांकेर. जिले में स्वतंत्रता दिवस के दिन एक आईईडी बम धमाके में एक ग्रामीण शख्स की मौत हो गई थी. आज सुबह आमाबेड़ा थाना क्षेत्र के गेडगांव में नक्सलियों ने बैनर लगाकर इस घटना के लिए पुलिस प्रशासन को दोषी ठहराया है. माओवादियों की किसकोड़ो एरिया कमेटी ने दावा किया है कि उसेली गांव में 15 अगस्त को हुए बम विस्फोट में ग्रामीण शोभसिंह सलाम की मौत के मामले में नक्सलियों का हाथ नहीं है बल्कि उसेली गांव में पुलिस ने बम विस्फोट किया था.

नक्सलियों द्वारा बम धमाके का खंडन करने के बाद कांकेर पुलिस अधीक्षक कन्हैयालाल ध्रुव ने कहा कि माओवादी हीआईईडी बम विस्फोट करके ग्रामीण आदिवासी की हत्या कर दी है और अब इस हत्याकांड से पलट कर सफाई दे रहे हैं. उन्होंने कहा कि माओवादियों ने ही सुरक्षा बलों को नुकसान पहुंचाने के लिए उसेली गांव में बम लगाया था और इसी बम धमाके में ग्रामीण की मौत हुई.

naksali

कांकेर एसपी ने बताया कि जंगल में गाय चराने के लिए गए ग्रामीण की मौत से गांववालों में माओवादियों के लिए गुस्सा भड़क गया है और अब नक्सली संगठन पुलिस को बदनाम करने के लिए झूठा आरोप लगाया है. सुरक्षा बलों के बढ़ते दबाव के कारण बस्तर में माओवादियों की हालत खराब है और अपने कथित प्रभाव वाले इलाकों से बेदखल होते माओवादियों ने पुलिस के सिर बम धमाके का आरोप लगाकर ग्रामीणों के आक्रोश से बचने कोशिश की है.

बता दें 15 अगस्त के दिन आमाबेड़ा थाना क्षेत्र के ग्राम उसेली के पास पगडंडी में आईईडी ब्लास्ट हुआ था. जिसमें गाय चराने के लिए जंगल गए शोभ सिंह सलाम का पैर आईईडी पर पड़ने कारण धमाका हो गया था और इस घटना में शोभसिंह की मौत हो गई थी पुलिस ने मौके पर से एक और जिंदा बम मिलने की भी जानकारी दी थी.