Home जिले समाज कल्याण विभाग में 1000 करोड़ के घोटाले में हाईकोर्ट ने सुनाया...

समाज कल्याण विभाग में 1000 करोड़ के घोटाले में हाईकोर्ट ने सुनाया फैसला, पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांढ, सुनील कुजूर सहित इन बड़े अधिकारियों पर FIR दर्ज करने के आदेश, पढ़िए

रायपुर। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने समाज कल्याण विभाग में 1000 करोड़ के घोटाले में हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने राज्य पर 1000 स्रोत निःशक्त जन संस्था के नाम करोड़ के घोटाले के मामले में फैसला सुनाते हुए सीबीआई को छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांढ और सुनील कुजूर के […]

समाज कल्याण विभाग घोटाला मामले में हाईकोर्ट में हुई सुनवाई, फैसला सुरक्षित

रायपुर। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने समाज कल्याण विभाग में 1000 करोड़ के घोटाले में हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। हाईकोर्ट की डिवीजन बेंच ने राज्य पर 1000 स्रोत निःशक्त जन संस्था के नाम करोड़ के घोटाले के मामले में फैसला सुनाते हुए सीबीआई को छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांढ और सुनील कुजूर के अलावा पूर्व एसीएस एमके राउत, बीएल अग्रवाल, आलोक शुक्ला, एमके श्रोती सहित 13 अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। राजधानी रायपुर निवासी कुंदन सिंह की याचिका पर कोर्ट ने ये फैसला सुनाया है।

याचिका के मुताबिक राजधानी रायपुर के माना में चार हजार दिव्यांगों के उपचार के नाम पर करोड़ों रूपए खर्च किए गए। लेकिन सारा हिसाब-किताब केवल कागजों में मिला। इस मामले में याचिकाकर्ता कुंदन ठाकुर ने बताया कि दिव्यांगों के इलाज के नाम पर सरकारी तंत्र ने करोड़ों रूपए की घोटालेबाजी की।

चौंकाने वाली बात यह थी कि कुंदन सिंह ठाकुर को कर्मचारी बताकर वेतन आहरित किया जा रहा था। जब इसकी जानकारी उन्हे हुई। तब उन्होंने तमाम दस्तावेजों के आधार पर हाईकोर्ट में याचिका दायर की। हाईकोर्ट की एकलपीठ न्यायमूर्ति मनींद्र श्रीवास्तव ने इस प्रकरण की सुनवाई के बाद माना कि यह साधारण मामला नहीं है। लिहाजा इसे जनहित याचिका के रूप में स्वीकार किया गया था. इस मामले को डबल बेंच में भेजा गया था। जिसके बाद ये फैसला सुनाया गया।