गरियाबंद

Gariyaband: पीएम सड़क की ऐसी तस्वीर! सालभर में गड्ढ़ों में तब्दील हुआ सड़क, 10 मिनट के सफर में लग रहा आधा घंटा

रवि तिवारी @देवभोग। (Gariyaband) दीवानमुड़ा से लेकर बरही सीमा तक बनाये गए पीएम सड़क इन दिनों बड़े-बड़े गड्डों में तब्दील हो चुका हैं। तीन किलोमीटर के इस सड़क में एक से डेढ़ फीट तक बड़े-बड़े गड्ढे हो चुके हैं। स्थिति यह हो गईं है कि यह सड़क सिर्फ नामभर का पीएम सड़क रह गया हैं, सड़क पूरी तरह से गड्डों से पट चुका हैं। सालभर पहले से सड़क की यह स्थिति हो चुकी हैं लेकिन जिम्मेदार अधिकारी सड़क की स्थिति को सुधारने के लिए कोई उचित कदम उठाना मुनासिब नहीं समझ रहे हैं। इसी का नतीजा हैं कि यह सड़क दिन ब दिन गद्दों में तब्दील होती जा रही हैं। (Gariyaband) दीवानमुड़ा यहां बताना लाजमी होगा कि इस सड़क के विषय में विभाग के ज़िम्मेदार अधिकारियों को भी जानकारी हैं, लेकिन आज तक अधिकारियों ने उचित कदम उठाना मुनासिब नहीं समझा हैं। ज्ञात हो कि दीवानमुड़ा से लेकर बरही सीमा तक सड़क की स्थिति इतनी ज्यादा खराब हो चुकी हैं कि 10 मिनट के इस सफर को तय करने में राहगीरों को आधे घण्टे से भी ज्यादा का समय लग जाता हैं।

Punjab Congress Fight: सिद्धू को मनाने के मूड में नहीं है कांग्रेस, हरीश रावत का पंजाब दौरा रद्द, अब नए प्रदेश अध्यक्ष की तलाश….क्या सिंह की बढ़ेगी मुश्किल

उच्चाधिकारी को भी करवा चुके हैं अवगत

नवीन सुकलीभांठा पंचायत के पूर्व सरपंच दयाराम बीसी ने बताया कि गत वर्ष धान खरीदी के दौरान प्रदेश स्तर के उच्च अधिकारी के साथ ही जिले के उच्च अधिकारी दौरे पर पहुँचे थे,उस दौरान वे इसी सड़क से बरही सीमा तक पहुँचे थे। उन्हें भी इस सड़क को लेकर आ रही परेशानियों से अवगत करवाया गया था,उस दौरान प्रदेश के उच्च अधिकारी ने जल्द ही सड़क को बनवाये जाने का आश्वासन दिया था,लेकिन आश्वासन सिर्फ आश्वासन बनकर ही रह गया,और आज तक सड़क नहीं बन पाया।

प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपने की तैयारी

नवीन सुकलीभांठा गॉव की सरपंच प्रमिला बीसी ने बताया कि सड़क की स्थिति को लेकर अधिकारियों को अवगत करवा रहे हैं, लेकिन आये दिन आश्वासन में सिर्फ समय निकल रहा हैं और सड़क बड़े बड़े गड्डों में तब्दील हो रहा हैं। ऐसे में अब जल्द ही पंचायत स्तर पर बैठक कर वहां शिकायत पत्र तैयार कर सड़क की फ़ोटो खींचकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम फ़ोटो के साथ शिक़ायत पत्र प्रेषित करते हुए सड़क की वस्तुस्थिति से उन्हें अवगत करवाया जाएगा। वहीं आवाजाही में आ रही परेशानियों से अवगत करवाते हुए जल्द ही सड़क को बनवाये जाने की मांग भी पूरे ग्रामीण और पंचायत पदाधिकारियों की तरफ से प्रधानमंत्री से की जाएगी।

Chhattisgarh: आदिवासियों के आस्था के केन्द्र बड़ेडोंगर और अमर शहीद गैंद सिंह की कर्मस्थली परलकोट पर्यटन स्थल के रूप में होगी विकसित, सीएम ने की घोषणा

मामले में सब इंजीनियर सौरभ दास का कहना हैं कि सड़क के विषय में प्रस्ताव उच्च कार्यालय को भेजा जा चुका हैं, जैसे ही स्वीकृति मिलेगी,काम शुरू कर दिया जाएगा।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: