Uncategorized

Gariyaband: ओड़िसा के स्वीपर के भरोसे देवभोग में हो रहा पीएम, आने में लेट होने पर पोस्टमार्टम में होती है देरी

रवि तिवारी@देवभोग। (Gariyaband) छत्तीसगढ़ के देवभोग ब्लॉक में पीएम ओड़िसा के स्वीपर के कंधे पर हैं। देवभोग पुलिस अपने खर्च से ओड़िसा से स्वीपर लेकर आती हैं, तब जाकर देवभोग में पीएम की प्रक्रिया संपन्न हो पाती है। यहां बताना लाजमी होगा कि देवभोग में डेली विजेज के पद पर पदस्थ स्वीपर की मौत दिसम्बर 2020 में हो जाने के बाद से ही पीएम के लिए ओड़िसा के स्वीपर का ही सहारा लेना पड़ता हैं। गौरतलब हैं कि देवभोग थाने में दिसम्बर 2020 से अब तक करीब 36 पीएम हो चुका हैं, वहीं सभी पीएम में पुलिस को ओड़िसा से स्वीपर लाना पड़ा हैं। (Gariyaband) ज्ञात हो कि देवभोग से धर्मगढ़ की दूरी 15 किलोमीटर होने के चलते और उनसे देवभोग पुलिस को सम्पर्क साधने के बाद उनके आने-जाने में भी समय लगता हैं, ऐसी स्थिति में स्वीपर के नहीं पहुँचने तक शव शवगृह में रखा रहता हैं, जब स्वीपर पहुँचते हैं तो पीएम हो पाता हैं।

Weather Update: प्रदेश के 14 जिलों में भारी बारिश, मौसम विभाग ने 24 घंटे का रेड अलर्ट किया जारी

(Gariyaband) लोकल स्तर पर कोई तैयार नहीं है स्वीपर के लिए-: मामले में बीएमओ डॉक्टर अंजू सोनवानी ने कहा कि लोकल स्तर पर स्वीपर के लिए कोई तैयार नहीं है। बीएमओ ने बताया कि दिसम्बर 2020 में डेली विजेज में कार्यरत स्वीपर की मौत हो जाने के बाद धर्मगढ़ से ही स्वीपर की व्यवस्था करनी पड़ रही हैं। उन्होंने यह भी बताया कि मृतक स्वीपर के परिवार के सदस्यों को भी हमने कहा था कि वे भी पीएम करना सीख जाए लेकिन उन्होंने भी मना कर दिया,वहीं लोकल स्तर पर भी कोई पीएम करना नहीं सीखना चाहता। इसी के चलते ही धर्मगढ़ से स्वीपर की व्यवस्था कर पीएम करवाना पड़ रहा हैं।

समय पर नहीं हो पाता पीएम

मामले में देवभोग थाना प्रभारी विकास बघेल ने भी माना कि समय पर स्वीपर के नहीं पहुँच पाने के चलते समय पर पीएम नहीं हो पाता। थाना प्रभारी ने यह भी कहा कि स्वीपर के लिए विभागीय अधिकारियों के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से चर्चा की गई हैं, जल्द ही उन्होंने इस समस्या का हल करने का आश्वासन दिया हैं। श्री बघेल ने यह भी बताया कि कई बार स्वीपर के समय पर नहीं पहुँचने के चलते मृतक के परिजन पुलिस पर दोषारोपण करने लगते हैं कि पुलिस जानबूझकर पीएम करने में लेट कर रही हैं। इसके बाद जब उन्हें समझाया जाता हैं तो वे फिर पुलिस की बात समझ जाते हैं। थाना प्रभारी ने यह भी बताया कि हमारी कोशिश रहती हैं कि हम जल्द से जल्द पीएम की प्रक्रिया पूरी कर शव परिजनों को सौंप दे ताकि वे उनका अंतिम संस्कार जल्दी कर सकें। श्री बघेल ने यह भी बताया कि धर्मगढ़ से स्वीपर को लाने के लिए कई बार पेट्रोलिंग भी भेजा जाता हैं या फिर वे जब आ जाते हैं तो उनके आने-जाने का खर्च दे देते हैं, जिससे वे संतुष्ट हो जाते हैं।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: