गरियाबंदछत्तीसगढ़

Rajim में किसानों का महापंचायत, मंच से जमकर बरसे टिकैत, बोले- सरकार नहीं थी, नहीं है और नहीं रहेगी

राजिम। राजिम (Rajim) में आज किसान महापंचायत हुआ। जिसमें किसान नेता राजेश टिकैत पहुंचे थे। राकेश टिकेत मंच से ही मोदी सरकार पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि ये आंदोलन, क्रांति का आगाज है। गाँव से निकलकर हमें शहरों की ओर बढ़ना होगा। भारत सरकार जब तक कानून वापस नहीं लेगी, तब तक किसान पीछे हटने वाले नहीं है।

काले कानूनों का रद्द होना जरुरी

राकेश टिकैत ने मंच से कहा कि मोदी सरकार के तीन काले कानून को रद्द करना होगा। (Rajim) मोदी सरकार अगर कहती है कि एमएसपी रही है, रही थी और रहेगी तब हम भी कहते हैं कि सरकार नहीं है, नहीं थी और नहीं रहेगी।

PM ने जलवायु परिवर्तन के प्रभाव से फसलों को बचाने के लिए छत्तीसगढ़ में किए जा रहे प्रयासों की तारीफ की, मुख्यमंत्री की पहल को सराहा

छत्तीसगढ़ की तरह दूसरे राज्यों में भी मिले एमएसपी

राकेश टिकैत ने छत्तीसगढ़ में 2500 रुपए क्विंटल पर किसानों के धान खरीदे जाने की सराहना करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ की तरह दूसरे राज्यों के किसानों को भी एमएसपी मिले। टिकैत ने कहा, गौपालकों, सब्जी किसानों को, धान या अरहर उगाने वाले जो भी किसान हैं उनके उत्पादों को भी समर्थन मूल्य मिले।

Gariyaband के गांव-गांव में तैनात होगी महिला फ़ौज, फूलबसन यादव ने सिखाया सफलता का गुरुमंत्र

राकेश टिकैत ने देश के युवाओं से आगे आने की अपील की और कहा कि युवाओं को सोशल मीडिया के जरिए जन-जन तक आंदोलन को पहुँचाना होगा। (Rajim) ट्विटर, फेसबुक, यूट्यूब के जरिए आंदोलन को आगे बढ़ाना होगा।

मेधा पाटकर बोलीं- सार्वजनिक संपदा को बेचने का काम कर रही है मोदी सरकार

महापंचायत में प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर ने शहीद शंकर गुहा नियोगी जिंदाबाद नारे के साथ भाषण शुरुआत की। उन्होंने मोदी का जिक्र करते हुए कहा कि देश भर के किसान मोदी सरकार के काले कानून के खिलाफ हैं। जल-जंगल-जमीन हमारी है। पाटकर आरोप लगाया कि मोदी सरकार पूंजीपतियों के हाथों देश की सार्वजनिक संपदा को बेचने का काम कर रही है।

पाटकर ने भूपेश सरकार की तारीफ करते कहा कि भूपेश सरकार 25सौ रूपए क्विंटल में धान खरीद रही है। उन्होंने सीएम बघेल से अपील करते हुए कहा कि केंद्र सरकार अगर कानून में संशोधन नहीं करती है तो राज्य का अपना कानून लाना चाहिए।

मोदी जी को नींद नहीं आ रही है:योगेंद्र यादव

महापंचायत में किसान नेता योगेंद्र यादव शहीद भगत सिंह और शंकर गुहा नियोगी को याद करते हुए कहा कि जब मैं युवा था तो शंकर गुहा नियोगी के किस्से सुनता था, मजदूरों के सबसे बड़े नेता थे शंकर गुहा नियोगी। मैं इस मंच से उनको नमन करता हूँ। योगेंद्र यादव ने कहा कि मोदी जी को नींद नहीं आ रही है। मोदी जी टीवी पर देखते होंगे तो सोचते होंगे कि ये सब किसान आंदोलन जीवी हैं।

महापंचायत के मंच पर किसान नेता राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव, मेधा पाटकर के अलावा डॉ. सुनीलम, सत्यवान, आनंद मिश्रा, तेजराम विद्रोही, जुगनू चंद्राकर, गौतम बंदोपाध्याय, पारसनाथ साहू, रूपन चंद्राकर, सुरेंद्र शर्मा, द्वारिका साहू सहित बड़ी संख्या में किसान नेता उपस्थित रहे।

किसान नेताओं का हुआ ऐतिहासिक स्वागत

महापंचायत में छत्तीसगढ़ के अलग-अलग इलाकों से 10 हजार से भी अधिक किसान पहुंचे हुए थे। यहाँ मंच पर पहुँचते ही राकेश टिकैत, मेधा पाटकर, योगेंद्र यादव सहित अन्य किसान नेताओं का स्वागत करने की होड़ मच गई। लोग राकेश टिकैत के साथ सेल्फी लेते रहे। इस दौरान मंच पूरी तरह भर गया था।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: