Home देश - विदेश चैन से मरने भी नहीं देता ये बाबा, जलती हुई चिता से...

चैन से मरने भी नहीं देता ये बाबा, जलती हुई चिता से शवों को निकालकर खाता है मांस… जानिए बाबा ने क्यों अपनाई ये तरकीब…

कुछ लोग कहते है कि चैन से जीना तो नसीब नहीं हुआ लेकिन चैन से मरना तो नसीब होगा लेकिन एक बाबा ऐसे भी है जो लोगों को चैन से मरने भी नहीं देते और अब तक लगभग 136 अधजले शवों का मांस खा चुके हैं जब इस बात का खुलासा हुआ तो मृतक के […]

चैन से मरने भी नहीं देता ये बाबा, अधजले शवों का खाता है मांस तंत्र विद्या के लिए बाबा ने अपनाई ये तरकीब

कुछ लोग कहते है कि चैन से जीना तो नसीब नहीं हुआ लेकिन चैन से मरना तो नसीब होगा लेकिन एक बाबा ऐसे भी है जो लोगों को चैन से मरने भी नहीं देते और अब तक लगभग 136 अधजले शवों का मांस खा चुके हैं जब इस बात का खुलासा हुआ तो मृतक के परिजनों ने मिलकर बाबा और उसके चेले की हत्या कर दी.

दरअसल ये पूरा मामला उत्तरप्रदेश के खुर्जारोड का है जहां कौशल्या नगर निवासी अंकुश यादव की बहन अंशु की 12 अगस्त को मौत हो गई थी. श्मशान घाट पर उसका अंतिम संस्कार किया गया था.

अंतिम संस्कार के बाद सभी वहां से चले गए लेकिन शाम को जब मृतक के पिता श्मशान घाट पहुंचे तो देखा कि चिता पर अधजला शव था साथ ही उसके शव के कुछ हिस्सों का मांस भी गायब था फिर मृतक के पिता ने शव की फोटों खींची और बाकि लोगों को दिखाई जब इस बात पर बाबा से पूछताछ की गई तो बाबा ने भी नशे में आकर सच बता दिया जिससे गुस्साए मृतक के परिजनों ने मिलकर बाबा और उसके चेले की हत्या कर दी. आपको बता दें कि आरोपी के अलावा और भी गांव के 26 लोगों ने मिलकर बाबा के मांस खाने की पुष्टि की है.