धमतरी

Dhamtari: 20 साल से जिस घोड़े को बच्चे की तरह पाला, मौत पर फफककर रो पड़ा मालिक, रीति रिवाज से निकाली अंतिम यात्रा

संदेश गुप्ता@धमतरी।  (Dhamtai) इंसान और जानवर पर कई फिल्में बन चुकी है, धमतरी में लेकिन ये हकीकत में हुआ, एक घोड़े की अंतिम यात्रा पूरे रीति रिवाज के साथ निकली, अपने 20 साल पुराने दोस्त की मौत पर घोड़ा मालिक फफककर रोता रहा, इस नज़ारे को देखने वाले दुखी भी हुए हैरान भी।

(Dhamtai) दोस्ती अपने आप मे एक अनोखा रिश्ता होता है, इसमे जाति, धर्म, देश काल, अमीरी गरीबी का कोई दायर होता नही, यहाँ तक कि प्रजाति की भी कोई मर्यादा नही होती, इंसान और जानवर की दोस्ती पर कई फिल्में भी बन चुकी हैं, धमतरी (Dhamtai)  में भी ऐसे ही इंसान और घोड़े की 20 साल पुरानी दोस्ती थी, जो टूट गई, घोड़े की मौत हो गई, अपने वफादार साथी की मौत के बाद घोड़ा मालिक ने उसकी अंतिम यात्रा पूरे इंसानी रीति रिवाज के साथ निकाली

धमतरी के गणेश चौक में रहने वाला विक्की शादियों में बग्गी और घोड़ा किराए पर देने का काम करता है, उसके पास 20 साल से राजा नाम का एक घोड़ा था और रानी नाम की घोड़ी, जिन्हें विक्की अपने परिवार के सदस्य की तरह रखता था राजा, रानी और विक्की मिल कर पूरे परिवार को चलाते थे, इनमें आपस मे गहरा लगाव हो गया था, लेकिन अचानक राजा की मौत से विक्की को गहरा सदमा लगा, अपने दोस्त की मौत की बात और उसकी यादें बताते हुए विक्की का गला भर आया।

शहर से निकलती घोड़े की शव यात्रा और रोते बिलखते विक्की  जिसने भी देखा उसकी भी आंखे नम हो गई, क्योंकि ऐसी दोस्ती और ऐसी शव यात्रा हर जगह देखने को नही मिलती..

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: