क्राईम

conspiracy to murder judge: जज की हत्या, मॉर्निंग वॉक के लिए निकल थे घर से….चोरी की ऑटो ने मारी टक्कर, सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा साजिश का एंगल

धनबाद। (conspiracy to murder judge) झारखंड के औद्योगिक शहर में एक दिलदहला देने वाली घटना हुई है. यहां के जज उत्तम आनंद को एक ऑटो के द्वारा टक्कर मारी गई. इस हादसे में जज की मौत हो गई है. पहले पुलिस इस घटना को महज एक हादसा मान रही थी, लेकिन सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पूरे मामले की गुत्थी सुलझी. ये हादसा नहीं बल्कि सुनियोजित हत्या है. अब वीडियो किसी साजिश की ओर इशारा कर रहा है.

Raipur: तेज रफ्तार कार से लड़की को फेंका बाहर, सूचना पर तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना हुई पुलिस, बेहोशी की हालत में युवती, मेकाहारा में भर्ती

बता दें कि (conspiracy to murder judge) जज उत्तम आनंद की हत्या की सुई चर्चित रंजय सिंह हत्याकांड से जोड़कर देखी जा रही है, क्यों कि जज इस हत्याकांड की सुनवाई कर रहे थे, रंजय सिंह बाहुबली नेता और झरिया के पूर्व विधायक संजीव सिंह के काफी करीबी माने जाते थे. बताया जा रहा है कि कुछ  दिन पहले ही न्यायाधीश उत्तम आनंद ने शूटर अभिनव सिंह और अमन के गुर्गे रवि ठाकुर की जमानत याचिका खारिज कर दी थी. इस बात की आशंका जताई जा रही है कि उनकी मौत के तार रंजय सिंह हत्याकांड से जुड़े हो सकते हैं.

6 महीने पहले तबादला होकर आए थे धनबाद

(conspiracy to murder judge) न्यायाधीश उत्तम आनंद ने छह माह पहले ही धनबाद के न्यायाधीश के रूप पदभार ग्रहण किया था. इसके पूर्व वह बोकारो के जिला एवं सत्र न्यायाधीश थे. रोज की तरह न्यायाधीश उत्तम मॉर्निंग वॉक करने 5 बजे सुबह अपने आवास से निकले. जज उत्तम आनंद थोड़ी ही देर में मॉर्निंग वॉक से वापस आ जाते थे. बुधवार को सुबह सात बजे तक जब वह वापस नहीं लौटे तो उनके परिजनों को चिंता हुई. इसके बाद परिजनों ने मामले की सूचना सदर थाना को दी. सूचना मिलने के बाद पुलिस महकमे में खलबली मच गई और उनकी तलाश शुरू की गई. सदर थाना की पुलिस को SNMMCH में एक लावारिस शव पड़े होने की सूचना मिली, जिसके बाद पुलिस अस्पताल पहुंची. न्यायाधीश के बॉडीगार्ड ने शव की पहचान की. उत्तम आनंद के सिर पर गहरे जख्म हैं, साथ ही कान से खून बह रहा था. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस छानबीन में जुट गई है.

गिरिडीह पुलिस को मिली बड़ी सफलता

इधर इस मामले में घनबाद से सटे गिरिडीह पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने इस मामले में ऑटो चालक और उसके दो सहयोगी को गिरिडीह से गिरफ्तार कर लिया है. दोनों जोड़ापोखर थाना क्षेत्र के डिगवाडीह 12 नंबर के रहने वाले हैं. इधर पुलिस ने ऑटो को भी जब्त कर लिया है और आरोपियों को गिरफ्तार कर धनबाद ले गई है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: