Home जिले रायपुर Congress: कांग्रेस ने कहा- पहले भाजपा नेता अपने खाते से पैसे वापस...

Congress: कांग्रेस ने कहा- पहले भाजपा नेता अपने खाते से पैसे वापस करें

रायपुर। कांग्रेस (Congress) पार्टी संचार विभाग के सदस्य आरपी सिंह ने एक बयान जारी किया है। इस बयान में उन्होंने  पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह एवं नेता प्रतिपक्ष धर्म लाल कौशिक से प्रश्न किया है। उन्होंने प्रश्न करते हुए कहा है कि भारतीय जनता पार्टी और उसके नेताओं में किसानों के प्रति आखिर इतनी नफरत […]

Congress
Congress

रायपुर। कांग्रेस (Congress) पार्टी संचार विभाग के सदस्य आरपी सिंह ने एक बयान जारी किया है। इस बयान में उन्होंने  पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह एवं नेता प्रतिपक्ष धर्म लाल कौशिक से प्रश्न किया है।

उन्होंने प्रश्न करते हुए कहा है कि भारतीय जनता पार्टी और उसके नेताओं में किसानों के प्रति आखिर इतनी नफरत क्यों है।

किसान छत्तीसगढ़ महतारी का सच्चा सपूत है। हमारा अन्नदाता भी है।

अगर किसान (Congress) समृद्ध होगा खुशहाल होगा तो छत्तीसगढ़ महतारी और प्रदेश की जनता भी खुशहाल होगी।

 Mungeli: प्रवासी मजदूर को दो दिन से था तेज बुखार, अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में टूटी सांसे

डॉ रमन सिंह ने अपने कार्यकाल में हमेशा किसानों को छलने का काम किया है।

Korba: 2 महीने बाद खुले रिर्जेवेशन काउंटर, मगर कोरबा वासियों के लिए ये नियम जरूरी

कभी भी किसानों (Congress) के प्रति की गई घोषणाएं उनकी सरकार ने पूरी नहीं की है।

Corona: भगवान जगन्नाथ और क्वारंटाइन, आप भी जाने इसके पीछे का रहस्य, देखें

चाहे मामला भू अधिग्रहण का हो या फिर बोनस का ही क्यों ना हो।

जब 170 रुपए का बोनस डॉ रमन सिंह ने दिया था। तब दो किस्तों में किसानों को यह मिला था।

जब 220 रुपए का बोनस दिया गया था। तब भी किसानों को दो किस्तों में मिला था।

अब अगर किसानों को किस्तों में प्रोत्साहन राशि मिल रही है तो फिर विरोध कैसा?

केंद्र सरकार की प्रधानमंत्री कृषक सम्मान योजना में 5 एकड़ तक के किसानों के लिए मात्र साल में 6 हजार रुपए का प्रावधान किया गया है ।

जोकि दो हजार रुपए की तीन किस्तों में मिलता है।

वहीं राज्य सरकार की न्याय योजना में 5 एकड़ के किसान को 5 हजार रुपए मिलते हैं।

वह भी महज चार किस्तों में, बेहतर क्या है। डॉ रमन सिंह को बताना चाहिए।

आरपी सिंह ने आरोप लगाते हुए कहा है कि अगर राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत मिले हुए पैसों से भारतीय जनता पार्टी की सहमति नहीं है।

 Mungeli: प्रवासी मजदूर को दो दिन से था तेज बुखार, अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में टूटी सांसे

बीजेपी के तमाम नेतागण इस न्याय योजना के तहत मिली हुई राशि को तत्काल मुख्यमंत्री सहायता कोष में जमा कर दें।

ताकि यह राशि  प्रदेश में फैल रहे कोरोना संक्रमण से लड़ने के काम आ सके।

RBI: रेपो रेट में कटौती, EMI में अब फिर मिली मोहलत, जानिए

आखिर यह कैसा विरोध है कि अपने खाते में आए हुए पैसे आप चुपचाप ग्रहण कर लेते हैं।

शेष किसानों को गुमराह करने का प्रयास करते हैं।

 Congress: कांग्रेस ने कहा- ‌ केन्द्र सरकार किस्तों में ही देती है किसान सम्मान निधी

नैतिकता का उच्च मानदंड तो यही कहता है कि आप इस योजना का विरोध तभी करें जब राज्य शासन से मिले हुए पैसे वापस कर दें।

इस योजना के प्रारंभ होने से किसानों के मन में यह बात स्थाई तौर पर बैठ गई है की “भूपेश है तो भरोसा है”।

हमारी सरकार ने जो भी वादे प्रदेश की जनता से किए हैं।

उन्हें हम हर हाल में पूरा करेंगे।

बीजपी चाहे जितने कुचक्र रच ले हमारी सरकार को जनहित के कार्यों से विमुख नहीं कर पाएगी।

इस बयान के साथ ही आरपी सिंह ने एक सूची जारी की है।

जिसमें बताया गया है कि भारतीय जनता पार्टी के किन बड़े नेताओं को इस योजना से कितनी आर्थिक मदद मिली है।