Home राजनीति सीएम भूपेश ने बेलसर में किया आदर्श गौठान का उद्घाटन

सीएम भूपेश ने बेलसर में किया आदर्श गौठान का उद्घाटन

रायपुर, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के विकासखण्ड शंकरगढ़ के ग्राम बेलसर में आदर्श गौठान का उद्घाटन किया। यह गौठान 1.2 हेक्टेयर भूमि पर बनाया गया है। मुख्यमंत्री ने शंकरगढ़ में केन्द्रीय जिला सहकारी बैंक की शाखा खोले जाने की घोषणा की। इसके साथ ही इन्होंने विभिन्न योजनाओं के पात्र हितग्राहियों को सामग्री एवं […]

116
सीएम भूपेश
सीएम भूपेश

रायपुर, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के विकासखण्ड शंकरगढ़ के ग्राम बेलसर में आदर्श गौठान का उद्घाटन किया। यह गौठान 1.2 हेक्टेयर भूमि पर बनाया गया है। मुख्यमंत्री ने शंकरगढ़ में केन्द्रीय जिला सहकारी बैंक की शाखा खोले जाने की घोषणा की। इसके साथ ही इन्होंने विभिन्न योजनाओं के पात्र हितग्राहियों को सामग्री एवं चेक वितरित किए।

मुख्यमंत्री बघेल ने बड़ी संख्या में पधारे ग्रामीणजनों का अभिवादन स्वीकार करते हुये कहा कि नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाऱी योजना एक महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना से एक ओर हमारी ग्रामीण अर्थव्यवस्था समृद्ध होगी, वहीं हमारे गांवों के स्वास्थ्य में भी सुधार होगा। रसायनिक खादों के अत्यधिक प्रयोग से अनेक गंभीर बीमारियों का खतरा पैदा हो जाता है, रसायनिक खादों से जहां कृषि लागत बढ़ती है, वहीं भूमि की उपजाऊ शक्ति कम होती है।

नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाऱी योजनान्तर्गत निर्मित गौठानों से वर्मी कम्पोस्ट खाद का उत्पादन बढ़ेगा। इन खादों के उपयोग से फसलों की पैदावार बढ़ेगी, हमें शुद्ध अनाज एवं साग-सब्जी मिलेगी, जो हमारी सेहत के लिए अच्छा होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में बहने वाले नदी-नालों में स्टाॅप डेम निर्मित किये जायेंगे, इस जलसंचय का उपयोग फसलों की सिंचाई के रूप में किया जायेगा।

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि एक समय था जब हमारी ग्रामीण अर्थव्यवस्था बहुत समृद्ध हुआ करती थी, सभी लोग गाय पालना अपना सौभाग्य समझते थे। आज कल गायों को चारे की कमी के कारण खड़ी फसलों के पास जाकर अपना पेट भरना पड़ता है जिससे फसलें बर्बाद होती हैं। इन्हीं स्थितियों को दूर करने के लिये सभी गांवों में गौठान निर्माण करने की आवश्यकता है।

गौठान का निर्माण ग्रामीणजनों के आपसी सहमति से किया जायेगा, गौठान के लिए चिन्हित भूमि विवादित न हो, इसका खास ख्याल रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि गौठान में आने वाली सभी मवेशियों के स्वास्थ्य का विशेष ध्यान रखा जाए। नियमित रूप से पशु चिकित्सक पशुओं के स्वास्थ्य की देख-रेख करेंगें। पशुओं के नस्ल सुधार पर विशेष ध्यान रखा जाए। गौमूत्र का उपयोग आज अनेक दवाईयों के उत्पादन में किया जाता है। गोबर गैस से हमें सस्ते दर पर ईंधन की प्राप्ति होगी। हमारे घर का खाना बनाने का खर्चा भी कम होगा। उन्होंने बड़ी संख्या में पधारे ग्रामीणजनों से नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी योजना पर सुझाव आमंत्रित किए। ज्यादातर ग्रामीणों ने इस योजना पर अपनी सहमति जाहिर की।

मुख्यमंत्री बघेल द्वारा ग्राम बेलसर के लालमुनी सहित 04 को व्यक्तिगत एवं 02 सामुदायिक वन अधिकार पत्र वितरित किया गया। व्यक्तिमूलक योजना के तहत 20 हितग्राहियों को बैंकयार्ड कुक्कुट प्रदाय किया गया। कृषि विभाग द्वारा 15 हितग्राहियों को रागी बीज, नरवा, गरुवा, घुरवा एवं बारी योजना के अंतर्गत बाड़ी विकास हेतु 05 हितग्राहियों को सब्जी मिनी किट, उद्यान विभाग द्वारा टपक सिंचाई हेतु 04 कृषकों का चयन, स्वच्छ भारत मिशन(ग्रामीण) द्वारा गोबर गैस के 10 हितग्राहियों को चूल्हा वितरण, मत्स्य विभाग द्वारा भारती महिला स्व सहायता समूह एवं सूरजमुखी महिला स्व सहायता समूह को एक-एक नग जाल एवं आईसबॉक्स तथा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा गंगा, दुर्गेश्वरी, सूरजमुखी, भारती स्वसहायता समूह को 2 लाख 40 हजार का चेक वितरण किया गया।

कार्यक्रम के उद्घाटन के अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री टी. एस. सिंहदेव ने कहा कि मुख्यमंत्री स्वयं यहां हमारे बीच उपस्थित हैं, हमें अपने जमीन का अधिकार दिलाने के साथ हमारे रोजगार एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के लिये विशेष प्रयास कर रहे हैं।इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह, रामानुजगंज विधायक बृहस्पत सिंह, सामरी विधायक चिंतामणी महाराज, लूण्ड्रा विधायक डॉ. प्रीतम राम, कलेक्टर संजीव कुमार झा, पुलिस अधीक्षक डी.आर.आंचला, वनमण्डलाधिकारी विवेकानन्द झा के अलावा बड़ी संख्या ग्रामीणजन उपस्थित थे।