Chhattisgarhछत्तीसगढ़

Chhattisgarh: किसानों की चिंता हुई खत्म, सिचाई के लिए बांधों से खेतों में छोड़ा जाएगा पानी, कृषि मंत्री का बयान, अधिकारियों को दिये निर्देश

रायपुर। (Chhattisgarh) छत्तीसगढ़ में अगस्त महीने में बारिश कम हुई है। मुश्किल से 3 बार छत्तीसगढ़ में तेज बारिश हुई है। कम बारिश होने से किसानों के माथे पर चिंता का लकीर खींच गई है। वहीं मंत्री रविन्द्र चौबे का बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में खंड वर्ष के कारण किसानों को सिंचाई के लुए पानी की ज़रूरत है। किसानों ने सीएम से मुलाकात कर बांध के पानी छोड़े जाने का आग्रह किया है। (Chhattisgarh)हमारी प्राथमिकता किसानों के फसल को बचान है। आज हमने बांधो से खेतों में सिंचाई के लिए पानी छोड़ने का निर्णय अधिकारियों को दिया गया है।

Chhattisgarh: ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की प्रेस कॉन्फ्रेंस , कहा- 60 साल तक थी कांग्रेस की सरकार, 40 साल तक पावर में पार्टी, ओबीसी वर्ग के लिए कुछ नहीं किया,

(Chhattisgarh)चौबे ने कहा कि नई तहसील और जिलों का निर्णय विकास के लिए बेहतर होंगे। भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि 15 साल में भाजपा दिखावा करने के लिए ही ज़ुर्रत कर लेती। सभी वर्गों के हितों का ध्यान रखा गया है। आरक्षण को लेकर छत्तीसगढ़ में हेडकोंट का काम हो चुका है।  

पूर्व सीएम रमन सिंह के बयान पर कहा- भाजपा की फुट हमारे सामने हैं। रमन सिंह खुद को अपना छोटा चेहरा बताते हैं। वही पुरंदेश्वरी कहती हैं कि भाजपा का कोई चेहरा हो नही सकता।

Delhi: महिला और पुरुष ने आत्महत्या की कोशिश, SC के गेट नंबर डी से कर रहे थे घुसने की कोशिश, कोई प्रूफ्र नहीं मिलने पर सुरक्षाबलों ने रोका, वहीं दोनो ने लगाई आग, हॉस्पिटल में भर्ती

अपात्र किसानों से 300 करोड़ की राशि वसूली को लेकर कहा कि किसानों केंद्र सरकार भ्रम की स्थिति में है। जिसके कारण किसानों को एक पैसा नही मिला। छत्तीसगढ़ में 31 लाख किसानों ने पंजीयन कराया था उन्हें कभी एक साथ पैसा नही मिल पाया था। हर भर नए दस्तावेज की मांग करते हैं.. एक बार निर्णय कर देना चाहिए कौन कौन पत्र हैं।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: