Chhattisgarh

Chhattisgarh: 3 साल बाद भी नहीं पूरी हुई भर्ती प्रक्रिया, DEd, BEd प्रशिक्षित संघ के बैनर तले मंत्रालय का घेराव करने पहुंचे थे अभ्यर्थी, पुलिस ने खदेड़ा, फिर थाने से वापस बूढ़ा तालाब लाकर छोड़ा

रायपुर। (Chhattisgarh) प्रदेश में DEd, BEd प्रशिक्षित संघ के बैनर तले अभ्यर्थी अपने अधिकारों को लेकर लंबे समय से भर्ती प्रक्रिया पूरी करने की मांग कर रहे हैं. प्रदेश में शिक्षक भर्ती को लेकर डीएड बीएड संघ के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि शिक्षक भर्ती की मांग को लेकर कई बार ज्ञापन सौंपा जा चुका है. 14,580 शिक्षक भर्ती का मामला अब बीरबल की खिचड़ी जैसा हो गया है. विभागीय लापरवाही और भ्रष्टाचार के कारण मामला कोर्ट में गया. कोर्ट के आदेश के 3 साल बाद भी भर्ती प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है.

बता दें कि (Chhattisgarh) आज बड़ी संख्या में चयनित शिक्षक मंत्रालय का घेराव करने पहुंचे थे, लेकिन उससे पहले पुलिस ने उन्हें वहां से हटा दिया. (Chhattisgarh) वहां से उन्हें थाने लाया गया, फिर वापस उन्हें बूढ़ा तालाब छोड़ दिया गया.

Congress ने कहा- यूपी से लेकर हिमाचल तक छत्तीसगढ़ मॉडल की गूंज, गुजरात फेल प्रदेश की हो रही तारीफ

जानिए क्या है पूरा मामला

दरअसल स्कूल शिक्षा विभाग लाखों रुपये खर्च कर पहले ही तमाम अभ्यर्थियों का सत्यापन करा चुका है. सरकार ने कोरोना काल में भर्ती पर रोक लगा दी थी. अभ्यर्थियों की सूची भी तैयार हो चुकी थी. इसके बाद भी दोबारा कागजात की जांच पड़ताल की गई. स्कूल शिक्षा विभाग विभिन्न संवर्गों में 14 हजार 580 पदों पर शिक्षकों की भर्ती करने की प्रक्रिया की है. इसके लिए मार्च 2019 में विज्ञापन जारी किया गया था. छत्तीसगढ़ व्यवसायिक परीक्षा मंडल (छत्तीसगढ़ व्यापम) ने मई में परीक्षा ली थी. विभिन्न वर्गों के परिणाम 30 सितंबर से लेकर 22 नवंबर 2019 तक जारी किए गए थे.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: