छत्तीसगढ़

Chhattisgarh: आपातकाल की बरसी पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- 1975 में लागू आपातकाल लोकतंत्र का काला अध्याय

रायपुर। (Chhattisgarh) आपातकाल की बरसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह (Former Chief Minister and National Vice President Dr. Raman Singh) ने कांग्रेस पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि कांग्रेस द्वारा 1975 में लगाया गया आपातकाल लोकतंत्र का काला अध्याय है:

आज के ही दिन रातों रात राष्ट्र को जेल में बदल दिया गया। प्रेस, अदालतें, सब खत्म हो गई, गरीबों पर अत्याचार किए गए। (Chhattisgarh) अभी हम जिस आजादी में सांसे ले रहे हैं, वह भाजपा के जननायकों की देन है।

21 महीने की अवधि के लिए भारत में लागू हुआ था आपातकाल

(Chhattisgarh) 25 जून 1975 से 21 मार्च 1977 तक का 21 महीने की अवधि में भारत में आपातकाल घोषित था। तत्कालीन राष्ट्रपति फ़ख़रुद्दीन अली अहमद ने तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री इन्दिरा गांधी (Indian Prime Minister Indira Gandhi) के कहने पर भारतीय संविधान की धारा 352 के अधीन आपातकाल की घोषणा कर दी।

स्वतंत्र भारत के इतिहास में यह सबसे विवादास्पद और अलोकतांत्रिक काल (Controversial and undemocratic period) था। आपातकाल में चुनाव स्थगित हो गए तथा नागरिक अधिकारों को समाप्त करके मनमानी की गई। इंदिरा गांधी के राजनीतिक विरोधियों को कैद कर लिया गया और प्रेस पर प्रतिबंधित कर दिया गया।

प्रधानमंत्री के बेटे संजय गांधी (Prime Minister’s son Sanjay Gandhi) के नेतृत्व में बड़े पैमाने पर पुरुष नसबंदी अभियान चलाया गया। जयप्रकाश नारायण ने इसे ‘भारतीय इतिहास की सर्वाधिक काली अवधि’ कहा था।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: