Chhattisgarh

Chhattisgarh: 14 सूत्रीय मांगों को लेकर आज अधिकारी और कर्मचारी हड़ताल पर, बंद रहेंगे शासकीय कार्यालय, जिला से लेकर तहसील तक सीएम के नाम सौंपेगे ज्ञापन

रायपुर। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के अधिकारी और कर्मचारी आज आंदोलन कर रहे हैं। 14 सूत्रीय मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। जिले से लेकर तहसील तक सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा, आंदोलन की वजह से आज शासकीय कार्यलय बंद रहेंगे।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) कर्मचारी-अधिकारी फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष और अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन के प्रवक्ता विजय झा के मुताबिक शासकीय सेवकों के लंबित मांगों से संबंधी 14 सूत्रीय मांग है. प्रदेश स्तरीय बैठक के बाद निर्णय लिया गया है कि आज यानी 3 सितंबर को प्रदेश के सभी सरकारी कार्यालयों को बंद रखा जाएगा. अपनी मांगों को लेकर मशाल उठाकर हड़ताल किया जाएगा.

(Chhattisgarh) केन्द्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़कर 17 से 28 प्रतिशत हो गया है, जबकि छत्तीसगढ़ राज्य के शासकीय सेवकों और पेंशनरों को 1 जनवरी 2019 से मात्र 12 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिल रहा है. राज्य के कर्मचारी केन्द्रीय कर्मचारियों से 16 प्रतिशत पीछे हो गए है. इस कारण प्रतिमाह के वेतन में 4-5 हजार रुपए आर्थिक क्षति हो रही है.

Gariyaband: जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर ढूंनढुंनी पानी…मगर आंगनबाड़ी से आज भी वंचित.. विशेष पिछड़ी जनजाति कमार बच्चों को मिलेगी सुविधा

इस सामूहिक अवकाश को मंत्रालय, संचनालय, लघु वेतन चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी, वाहन चालक यांत्रिक कर्मचारी संघ, रविशंकर विश्वविद्यालय कर्मचारी संघ, नगर निगम कर्मचारी संघ, क्रांतिकारी कोरोना योद्धा संघ, छत्तीसगढ़ डाटा एंट्री ऑपरेटर संघ, पर्यटन एवं संस्कृति विभाग, निगम मंडल कर्मचारी महासंघ, छत्तीसगढ़ स्टेट सिविल सप्लाईज कॉरपोरेशन लिमिटेड समेत अनेक संगठनों ने सहमति दिया है.

इनकी मांग है कि विभागीय पदोन्नति-समयमान वेतनमान स्वीकृति, अनियमित कर्मचारियों का नियमितीकरण, पुराना पेंशन योजना बहाली, आकस्मिक-कार्यभारित चतुर्थ वर्ग कर्मचारियों का नियमितीकरण, पटवारियों की पदोन्नति और कार्यालयीन उपयोग के लिए लैपटॉप देने. छग राज्य में पेंशन प्रोसेसिंग सेल की स्थापना और अन्य मांगों के समर्थन में छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन चार चरणों में आंदोलन भी कर चुका है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: