छत्तीसगढ़

Chhattisgarh: पूर्व मंत्री मूणत का प्रदेश सरकार पर तीखा हमला, कहा- विश्व प्रधानमंत्री मोदी की सराहना कर रहा, राज्य सरकार की यह ईर्ष्या राजनीतिक और संवैधानिक दृष्टि से अक्षम्य है

रायपुर। (Chhattisgarh) भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने वैक्सीन सेंटर्स में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चित्र नहीं लगाए जाने पर इसे प्रदेश सरकार की क्षुद्र मानसिकता का द्योतक बताया है। केंद्र सरकार से वैक्सीन लेकर भी प्रधानमंत्री श्री मोदी का चित्र टीकाकरण केंद्रों में नहीं लगाए जाने पर अपनी गहरी नाराज़ग़ी जताते हुए मूणत ने कहा कि प्रदेश सरकार को इस मामले में प्रदेश को सफाई देनी चाहिए। (Chhattisgarh) आख़िरकार मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं और वैक्सीनेशन केंद्र सरकार की योजना है और केंद्र सरकार नि:शुल्क वैक्सीन मुहैया करा रही है तो उस योजना के क्रियान्वयन व उससे संबद्ध प्रकाशित-प्रसारित सामग्रियों में प्रधानमंत्री मोदी का चित्र अनिवार्यतः होना चाहिए लेकिन सरकारी दफ़्तरों व केंद्रों में उनका चित्र लगाए जाने पर प्रदेश सरकार को ऐतराज़ क्यों है?

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता मूणत ने कहा कि वैक्सीनेशन का अधिकार राज्य को देने के नाम पर सियासत करने वाली कांग्रेस और उसकी प्रदेश सरकार ने वैक्सीनेशन को लेकर गंदी व ओछी राजनीति और वैक्सीन की प्रामाणिकता पर सवाल खड़ा करके वैक्सीनेशन के काम को ल़टकाने का काम किया और फिर उसमें भी आरक्षण की नौटंकी करके फ़िज़ूल की राजनीति की। वैक्सीनेशन और उसमें आरक्षण को लेकर हाईकोर्ट की फटकार के बाद अपने निकम्मेपन को छिपाने के लिए वैक्सीन नहीं होने के नाम पर प्रलाप किया।

मूणत ने कहा कि प्रदेश सरकार की विफलता के चलते केंद्र सरकार ने वैक्सीनेशन का काम राज्यों से वापस लेकर अपने अधिकार में ले लिया और राज्यों को वैक्सीन की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित कर दी तो अब प्रदेश की नाकारा सरकार केंद्र के सहयोग को जान-बूझकर अनदेखा करके इसका झूठा श्रेय बटोरने के शर्मनाक उपक्रम कर रही है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व मंत्री मूणत ने टीकाकरण केंद्रों में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के चित्र लगाए जाने और प्रधानमंत्री मोदी के चित्र से परहेज किए जाने पर सवाल किया कि प्रदेश में वैक्सीनेशन के काम को विफल करने पर आमादा नज़र आ रहे मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री राजनीतिक प्रतिशोध में आख़िर और किस निम्न स्तर तक जाएंगे? कोरोना की रोकथाम और सालभर में अपना वैक्सीन तैयार कर लेने के लिए समूचा विश्व प्रधानमंत्री मोदी की सराहना कर रहा है, उनके प्रति प्रदेश सरकार की यह ईर्ष्या न केवल राजनीतिक दृष्टि से, अपितु संवैधानिक दृष्टि से भी अक्षम्य है।

गाहे-बगाहे केंद्र सरकार के सामने सहायता के लिए मिमियाती प्रदेश सरकार केंद्र की तमाम योजनाओं में अपने मुँह मियाँ मिठ्ठू बनने की हास्यास्पद कोशिश तो कर ही रही है, उसमें घोटाले करने से भी वह बाज नहीं आ रही है।

मूणत ने कहा कि केंद्र सरकार की अधिकांश जनकल्याणकारी योजनाओं पर सरकार ने राजनीतिक बदले के चलते या तो रोक लगा दी, या उन योजनाओं पर काम नहीं करने की बात कहकर प्रदेश की जनता को उन योजनाओं के लाभ से वंचित कर दिया है, और बावज़ूद इसके केंद्र की योजनाओं व कार्यक्रमों को विफल करने तथा अपनी झूठी वाहवाही कराने में इस सरकार को ज़रा भी शर्म महसूस नहीं हो रही है

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: