छत्तीसगढ़

Chhattisgarh: राज्य में खाद, बीज और कीटनाशक औषधियों की गुणवत्ता की जांच का अभियान जारी, खाद-बीज के अमानक नमूनों के लॉट के विक्रय पर प्रतिबंध, संस्थाओं को नोटिस

रायपुर।  (Chhattisgarh) मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशानुसार कृषि विभाग द्वारा राज्य में रासायनिक उर्वरकों, बीज एवं कीटनाशक औषधि की गुणवत्ता पर विशेष निगरानी रखी जा रही है। कृषि विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी अपने-अपने इलाकों में लगातार दबिश देकर बीज, खाद और कीटनाशक औषधियों के सेम्पल ले रहे हैं, जिसकी जांच गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगशाला में की जा रही है। खरीफ सीजन 2021 में अब तक राज्य में बीज के 34 नमूने तथा रासायनिक उर्वरक के 65 नमूने अमानक पाए गए हैं, (Chhattisgarh) जिनके लाट के विक्रय पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगाने के साथ ही संबंधित फर्मों को कृषि विभाग ने नोटिस जारी कर जवाब-तलब किया गया है। कीटनाशक औषधि का भी 67 विश्लेषित नमूनों में से एक नमूना अमानक पाया गया है।

Chhattisgarh में आज मिले 112 नए मरीज, इलाज के दौरान 4 संक्रमितों की मौत, 185 ने दी कोरोना को मात

(Chhattisgarh) कृषि विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार खरीफ सीजन 2021 में बीज के अब तक 2188 नमूने लिए गए हैं, जिसमें से 2149 नमूनों का विश्लेषित किए जा चुके हैं, जबकि 39 नमूनों की जांच जारी है। उक्त नमूनों में 2115 नमूने मानक स्तर के तथा 34 नमूने अमानक पाए गए है। इसी तरह रासायनिक उर्वरकों की गुणवत्ता की जांच-पड़ताल के लिए कृषि विभाग के उर्वरक निरीक्षकों द्वारा 1962 नमूने विभिन्न संस्थानों से लिए गए हैं। जिसमें से 1643 नमूनों की जांच की जा चुकी है। 319 नमूनों की जांच जारी है। रासायनिक उर्वरकों के विश्लेषित सैम्पल में से 1578 मानक स्तर के तथा 65 अमानक पाए गए हैं।

Chhattisgarh: पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल और राजेश मूणत के बयान पर कांग्रेस का पलटवार, कहा- बिजली के मामले में भाजपा के पूर्व मंत्रियों द्वारा लगाए गए आरोप सफेद झूठ

अमानक बीज एवं खाद के लाट के विक्रय को विभाग द्वारा प्रतिबंधित किए जाने के साथ संबंधित संस्थाओं को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है। कृषि विभाग की टीम कीटनाशक औषधियों के गुणवत्ता की भी जांच कर रही है। जांच पड़ताल टीम ने अब तक कुल 163 सेम्पल विभिन्न फर्मों से लिए गए हैं, जिसमें से 67 नमूनों का विश्लेषण करने पर 66 सैम्पल मानक स्तर के तथा एक सैम्पल अमानक पाया गया।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: