छत्तीसगढ़

CG: भेंट-मुलाकात में आस्ता पहुंचे मुख्यमंत्री ने की अनेक घोषणाएं, आस्ता में आलू के लिए कोल्ड स्टोरेज और टाउ प्रोसेसिंग प्लांट लगेगा

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज जशपुर विधानसभा क्षेत्र के मनोरा विकासखण्ड के ग्राम आस्ता में आयोजित भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा लोगों की आय में वृद्धि के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं, इनका अधिक से अधिक लाभ उठाएं। उन्होंने कहा कि 65 प्रकार की लघु वनोपजों की खरीदी की जा रही हैं और इनमें वैल्यू एडिशन भी किया जा रहा है। उन्होंने गौठानों में संचालित विभिन्न आर्थिक गतिविधियों का उल्लेख करते हुए कहा कि गौठानों में आय मूलक नई-नई गतिविधियां प्रारंभ की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि आस्ता में आलू के लिए कोल्ड स्टोरेज, टाउ के लिए प्रोसेसिंग प्लांट की स्थापना की जाएगी। 

मुख्यमंत्री ने आम जनता की मांग पर की अनेक घोषणाएं 

मुख्यमंत्री बघेल ने इस दौरान क्षेत्र के विकास के लिए अनेक घोषणाएं की। उन्होंने आस्ता के मेन रोड से आस्ता जाने वाले मार्ग में सूर्य नाले में पुलिया का निर्माण, ग्राम खरसोता, विकासखंड मनोरा में मिनी स्टेडियम के निर्माण, ग्राम सोनक्यारी और बाला छापर में नये विद्युत सब स्टेशन की स्थापना, जशपुर जिला चिकित्सालय में सी.टी. स्कैन की सुविधा उपलब्ध कराने, विकासखंड मनोरा के ग्राम पंचायत कदराई के ग्राम पकरीटोली, ग्राम पंचातय बिजोरा के ग्राम किटकीटोली, ग्राम पंचायत करदना के ग्राम धवरपाट 01 और 02 तथा ग्राम पंचायत खम्हली के ग्राम खम्हली के बिजली विहीन टोलों तक बिजली लाईन विस्तार, विकासखंड जशपुर के जूरतेला और लुईकेना के बिजली विहीन मजरा टोले तक बिजली लाईन विस्तार और हाकी एस्ट्रोटर्फ़ मैदान में फ्लड लाइट व्यवस्था की घोषणा की।  भेंट-मुलाकात के दौरान एक छात्र ने मुख्यमंत्री से कहा कि स्वामी आत्मानन्द इंग्लिश मीडियम स्कूल में पढ़ने के लिए दूर जाना पड़ता है, आने-जाने का कोई साधन नहीं है, जिस पर मुख्यमंत्री ने मिनी बस चलाए जाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। सना कुरैशी ने बताया कि मेरी 6 वर्षीय बेटी को मिर्गी का झटका आता है। बहुत परेशान हूँ। एक साल से चंदा करके इलाज कर रही हूं। रायपुर मेकाहारा में इलाज चल रहा है। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के तहत इलाज कराने के निर्देश दिए।
पतराटोली निवासी कौशलिया देवी ने मुख्यमंत्री ने कहा बच्चे को लोन लेकर पढ़ाई करवा रही है। लोन चुकता करना है, लोन माफ़ करवा दीजिए, जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आवेदन दीजिए, माफ करने का पूरा प्रयास करंगे। स्वगति देवी ने पेयजल की दिक्कतें बताई, जिस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि पानी की व्यवस्था करेंगे। भेंट-मुलाकात में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से बात करते हुए निर्मला खलखो ने बताया कि उनका राशन कार्ड नही है। परिवार में 3 सदस्य हैं। उन्होंने बताया कि सूची में नाम होने के बाद भी लाभ नहीं मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने नए राशनकार्ड बनाने के निर्देश दिए।

आजीविका संवर्धन योजनाओं के विविध रंग बिखरे ग्राम आस्ता में 

ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं से जीवन में आ रहे  बदलाव की जानकारी दी। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा  चलाईं जा रहीं विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का असर अब दूरस्थ  अंचल और धरातल पर भी दिखने लगा है। आज जशपुर जिले के विकाशखण्ड मनोरा अंतर्गत ग्राम आस्ता में यह नजारा देखने को मिला। जब कई हितग्राहियों ने मुख्यमंत्री को अपनी सफलता की कहानी खुद सुनाई। भेंट मुलाकात अभियान के अंतर्गत यहां ग्राम आस्ता में टेम्पो के किसान देवनंदन ने बताया कि उनका 17 एकड़ जमीन है। जिससे 144 क्विंटल धान बेचा। राजीव गांधी किसान न्याय योजना से 86 हजार मिला है। इस साल भी एक किश्त मिल गया है। उन्होंने मुख्यमंत्री को गर्व से बताया कि इस  पैसे से घर बनवा रहा हूँ। ट्रेक्टर भी खरीद लिया। अब बच्चों के पढ़ाई लिखाई के लिए खर्च कर रहा हूँ। बेटी को पढ़ा रहा हूँ। बहु को भी पढ़ा रहा हूँ। उन्होंने जिस गर्वित भाव से मुख्यमंत्री को बताया, मुख्यमंत्री ने भी उनकी सराहना की ।

इसी तरह किसान राजेश मिज ने बताया कि उनका 8 एकड़ जमीन है। किसान  न्याय योजना के तहत 1 लाख 5 हजार मिला, जिससे मोटर सायकिल खरीदा। बहु के लिए साड़ी खरीदा। योजना बहुत अच्छी है, जीवन बदलने वाला। ग्राम सोगड़ा के शिवकुमार राम ने बताया कि मुझे 2 एकड़ वन अधिकार पट्टा मिला है। एक एकड़ में मछली पालन और बाकी मे खेती कर रहा हूँ। अपना जीवन अच्छे से चला रहे हैं। महिला समूह की सदस्य कौशलिया भगत ने बताया कि  गोठान से संचालित योजनाओं से जुड़कर खुद के लिए अब स्कूटी खरीद ली हूँ।
 मुख्यमंत्री से बात करते हुए भूमिहीन श्रमिक पुनिया बाई ने कहा की राजीव गांधी भूमिहीन ग्रामीण कृषि मजदूर योजना की किश्त मिल गई हैं। मुख्यमंत्री ने सभी से कहा कि अब साल में 7 हजार मिलेगा। सभी भूमिहीन पंजीयन कराए और योजना का लाभ उठाएं। सरना देवगुड़ी के बैगा पुजारियों को भी 7 हजार रुपए वार्षिक दिया जाएगा।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: