Home राजनीति अहंकार से भरे भाजपा के नेताओं को अभी भी अक्ल नही: कांग्रेस

अहंकार से भरे भाजपा के नेताओं को अभी भी अक्ल नही: कांग्रेस

रायपुर। भाजपा प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी के बयान पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया करते हुये प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि विधानसभा में मिली करारी हार के बाद भाजपा के नेताओं का मानसिक संतुलन बिगड़ चुका है। भाजपा के नेता अब जनहित के कामों का भी विरोध कर रहे हैं। भाजपा के नेताओं […]

98
धनंजय सिंह ठाकुर
धनंजय सिंह ठाकुर

रायपुर। भाजपा प्रवक्ता श्रीचंद सुंदरानी के बयान पर कांग्रेस ने कड़ी प्रतिक्रिया करते हुये प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि विधानसभा में मिली करारी हार के बाद भाजपा के नेताओं का मानसिक संतुलन बिगड़ चुका है। भाजपा के नेता अब जनहित के कामों का भी विरोध कर रहे हैं। भाजपा के नेताओं को जनता को बताना चाहिये मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार जनहित के कार्यों को बाधित करने वाले लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर कार्यवाही कर रही है तो विरोध क्यों कर रहे हैं?

पूर्व के रमन सरकार के द्वारा चलाए गए योजनाओं की समीक्षा में पाई गई आर्थिक अनियमितता और भ्रष्टाचार को जड़मूल नष्ट कर सरकारी योजनाओं को पारदर्शी और भ्रष्टाचार मुक्त बनाया जा रहा है तब भाजपा को क्यों पीड़ा हो रही है? प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने भाजपा नेताओं को जनता के पक्ष में खड़े होने की नसीहत दी। उन्होंने कहा कि पूर्व की रमन सरकार और भाजपा नेताओ की इन्हीं आदतों से पीछा छुड़ाने जनता ने उन्हें विधानसभा चुनाव में नकार दिया है।

जनता से वोट लेने के बाद भाजपा की सरकार जनता को भूलकर चंद अधिकारियों के इशारों पर 15 साल तक नाचती रही है। जिसका ही नतीजा है कि 15 साल की सत्ता के बाद भाजपा 15 सीटों पर सिमट गई है लेकिन अहंकार से भरे भाजपा के नेताओं को अभी भी अक्ल नही आई है। जनता जनार्दन सर्वोपरि है ना कि वे अधिकारी जो जनता के कामों में बेवजह व्यवधान उत्पन्न करते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार जनहित के कामों को प्राथमिकता से कर रहे अधिकारी, कर्मचारियों को प्रोत्साहित भी कर रही है।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि पूर्व की रमन सरकार किसान, गरीब, मजदूर, महिलाओं, युवाओं, बेटियों के नाम से योजना तो बनाती थी लेकिन योजना का लाभ योजना में आने वाले हितग्राहियों को मिलने के बजाय भाजपा के समर्थित उद्योगपति भाजपा के नेताओं को मिलता था और वास्तविक हितग्राही मात्र दफ्तरों के चक्कर लगाते रहे और फोटो कॉपी करने में अपने पैसे को व्यर्थ खर्च करते रहे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पूर्व से चली आ रही सभी योजनाओं की समीक्षा कर रहे हैं और उन योजनाओं में पाई गई खामियों को दूर कर और बेहतर लाभदायी एवं हितग्राहियों को तनावमुक्त करने नीतियां बना रहे हैं, जिससे भाजपा के कमीशनखोर भ्रष्ट नेताओं को पीड़ा हो रही है। 15 साल तक कई लोकलुभावन योजना बनाकर रमन-भाजपा ने छत्तीसगढ़ की जनता को धोखा दिया है। सत्ता परिवर्तन के बाद अब भाजपा के धोखा का पर्दाफाश हो रहा है।

आम जनता के बीच खुलते पोल से भाजपा के नेता घबराए हुए हैं इसलिए जनता को गुमराह करने के लिए उल-जुलूल बयानबाजी कर रहे है। कांग्रेस सरकार की जन हितैषी फैसलों की बुराई कर रहे हैं 15 साल में लोक लुभावने आकर्षक नामकरण वाले योजना श्रम विभाग, स्वास्थ्य विभाग, हाउसिंग बोर्ड, शिक्षा विभाग, पर्यटन विभाग एवं  अन्य विभागों के द्वारा चलाया गया जो नाम बड़े दर्शन छोटे निकले। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार योजनाओं को आम जनता के बीच बेरोकटोक पहुंचाने का काम कर रही है, जिससे भाजपा के नेताओं को पीड़ा हो रही है।